September 18, 2021

Grameen News

True Voice Of Rural India

विदिशा में 50 फुट गहरे कुँए में गिरे 2 दर्जन लोग, 4 की मौत

विदिशा में 50 फुट गहरे कुँए में गिरे 2 दर्जन लोग, 4 की मौत
Sharing is Caring!
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

मध्य प्रदेश के विदिशा जिले के गंजबासौदा में दो दर्जन से ज़्यादा लोग 50 फुट गहरे कुँए में गिर गए। मलबे में दबने की वजह से 4 लोगों की मौत हो गई। हादसे के बाद बचाव कार्य के लिए भोपाल से एसडीआरएफ और एनडीआरएफ की टीमें पहुंची। रेस्क्यू टीम के अनुसार 19 लोगों को अब तक बचाया गया है और 10 लोग अब भी लापता हैं।

दरअसल ये हादसा तब हुआ जब गुरुवार रात को कुएं में फिसलकर गिरी एक बच्ची को बचाने के लिए कुछ लोग कुएँ के पास पहुंचे। बच्ची के कुएँ में गिरने की खबर पूरे गांव में फैल गइओ और देखते ही देखते कुएँ के पास भीड़ जमा होने लगी। कुआं पहले ही खस्ता हालत में था ऊपर से उसकी मेड़ पर 50 से ज़्यादा लोग आकर खड़े हो गए। जिसके बाद अचानक से मिट्टी धंसने से दर्जनों लोग कुएं में गिर गए और मलबे में दब गए। ये कुआंकरीब 50 फुट गहरा है और इसमें लगभग 20 फुट तक पानी बताया गया है। एक तो इतना गहरा कुआं ऊपर से रात के अँधेरे ने रेस्क्यू टीम के लिए मुश्किलें कड़ी कर दी।

रात करीब 11 बजे बचाव कार्य में लगा एक ट्रैक्टर भी इस कुएं में गिर गया, इस दौरान चार पुलिसकर्मियों सहित कुछ और लोग भी इस कुएं में गिर गए। इनमें से तीन पुलिसकर्मियों और कुछ अन्य लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला गया। जिसने और भी ज़्यादा मुश्किल खड़ी कर दी।

वैसे हमारे देश में चाहे कोई सड़क हादसा हो जाए या कहीं आग लग जाए तो इतने तमाशबीन आकर खड़े हो जाते हैं कि रेस्क्यू टीम के लिए भी मुश्किलें खड़ी कर देते हैं और ऐसी ही तमाशबीन भीड़ की वजह से रेस्क्यू टीम को काम करने में दोगुनी परेशानी झेलनी पड़ती है। यहाँ भी कुछ ऐसा ही हुआ रात के अँधेरे में बच्ची कुँए में गिर गई। कुछ लोग उसे बचाने कुँए में उतरे कुछ लोग कुएँ की मेड़ पर खड़े होकर नीचे उतरे हुए लोगों की मदद कर रहे थे। मगर आधे से ज़्यादा तो कुएँ की मेड़ पर खड़े तमाशबीन थे जो रात के अँधेरे में भी वहां क्या चल रहा है इसका जायज़ा लेने से नहीं चूके और इसी वजह से इतना बड़ा हादसा हो गया।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने घटना के संबंध में वरिष्ठ अधिकारियों को तत्काल राहत और बचाव कार्य चलाने के निर्देश दिए। उन्होंने घटनास्थल पर मौजूद डीएम और एसपी से बात कर घटना के संबंध में जानकारी ली और बचाव अभियान को तेज गति से चलाने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री घटनास्थल पर चल रहे राहत और बचाव कार्यों की खुद निगरानी कर रहे हैं। उन्होंने घटना की उच्च स्तरीय जांच और पीड़ितों को हर संभव मेडिकल सहायता उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © Rural News Network Pvt Ltd