April 19, 2021

Grameen News

True Voice Of Rural India

नीम अंजन, नीम व्यंजन, नीम ही मंजन कहावत का उदाहरण है धानजोड़ी गांव

नीम

नीम अंजन, नीम व्यंजन, नीम ही मंजन कहावत का उदाहरण है धानजोड़ी गांव

Sharing is caring!

आपने शायद ही आजतक किसी के मुँह से ये सुना हो कि वो कभी बीमार ही नहीं पड़ा। शायद ही कभी ये सुना हो कि इस गाँव में दो दशक से किसी बीमारी ने दस्तक ही नहीं दी और मान लीजिए अगर कभी कोई बीमार पड़ा भी तो वो कभी अस्पताल गया ही नहीं। आप ही बताइए क्या ये मुमकिन है ?  शायद हाँ… ऐसा गांव है धाडज़ोड़ी जहां बीमारी अगर भूल के आ भी जाती है तो अगले ही पल दबे पाँव वापस भी लौट जाती है। जानते हैं क्यों ? क्योंकि इस गांव के लोगों के लिए नीम ही अंजन, मंजन और व्यंजन है। मतलब आप ये मान लीजिए कि, भाई नीम ही हकीम है। सही पहचाना आपने क्योंकि नीम का सेवन करने की वजह से गांव के लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता इतनी है कि उन्हें कोरोना से मुकाबले में जीत का यकीन है।
दरअसल धनबाद के धाडज़ोड़ी गांव में आदिवासी और मूलवासी की आबादी ज़्यादा है। ऐसे में लोगों को डर है कि अगर गाँव में कोरोना फैला तो ज़्यादा लोग इसकी चपेट में आ सकते हैं। यही नहीं इस गाँव में कोई अस्पताल के चक्कर भी नहीं काटना चाहता। इसलिए गांव के लोग सतर्क भी है। ग्रामीणों ने पूरे गाँव की घेराबंदी कर दी है ताकि कोई गांव में प्रवेश नहीं कर सके। पूरे गांव में नीम के पानी का छिड़काव किया जा रहा है। यही नहीं घर के दरवाजे पर नीम के पत्ते बांध दिये गये हैं।
गांव के लोगों की जीवन शैली में नीम का पत्ता अहम हिस्सा है। ग्रामीण पानी में नीम की पत्तियां उबाल कर नहाते हैं।  नीम का दातुन करते हैं। किसी भी तरह की सब्जी में नीम के कुछ पत्ते जरुर डालते हैं। कोरोना के वायरस का खतरा हुआ तो पूरे गांव में नीम के पत्ते डाल कर उबाले गये पानी का छिड़काव शुरू किया गया है। लॉक डाउन के बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम ने भी एक दो बार गांव आकर सैनिटाइज किया है। सबसे बड़ी बात ये है कि ग्रामीणों की ये दिनचर्या कोरोना की वजह से नहीं है बल्कि ये सभी लोग पहले से ही ऐसा करते आ रहे हैं। इसलिए ग्रामीण दावा कर रहे हैं कि उनके गाँव तक कोरोना कभी नहीं पहुंच सकता।
Inspiring and Positive Stories पढ़ने के लिए नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © Rural News Network Pvt Ltd