December 2, 2020

Grameen News

True Voice Of Rural India

सिवनी जिले में जंगलराज! परेशान किसानों की नहीं हो रही कोई सुनवाई

जैतपुर कलां

जैतपुर कलां के युवा किसानों के साथ भ्रष्ट सरपंच ने की मारपीट

Sharing is caring!

मध्य प्रदेश के सिवनी जिले के जैतपुर कलां के करीब 50 किसानों के स्वामित्व की भूमि विनेकी मार्ग के अंतर्गत आती है। मगर जैतपुर कलां से विनेकी मार्ग का रास्ता बहुत खराब है। हालात ये है कि, इस रास्ते से किसी का पैदल आना जाना भी मुश्किल हो चला है। जबकि, किसानों को हर दिन कृषि कार्यों के लिए इसी रास्ते से होकर निकलना होता है। कभी बैलगाड़ी फंसती है तो कभी ट्रैक्टर.. लेकिन मजबूरी के चलते हर दिन जैतपुर कलां के करीब 50 से ज्यादा किसानों को इस परेशानी से गुजरना पड़ता है। जाहिर है अगर किसान खेती नहीं करेंगे तो आपके और हमारे जैसे शहरों में बैठे लोगों के लिए अनाज कैसे उगाएंगे?

जैतपुर कलां

दरअसल, जैतपुर कलां से विनेकी मार्ग के निर्माण के लिए साल 2008 में तत्काल सरपंच राधेश्याम बघेल को करीब 8 लाख रूपये की राशि आवंटित की गई थी। इस सड़क का शिलान्यास भी किया गया, मगर सरपंच द्वारा किए गए भ्रष्टाचार के चलते ना तो सड़क बनी और ना ही आवंटित की गई राशि का कोई हिसाब मिला। खैर भ्ष्टाचार तो आज के वक्त में हर सरकारी काम की नींव बन चुका है।

ये भी पढ़ें- महिलाओं ने खुद बदली अपनी किस्मत, खोदा 107 मीटर लंबा पहाड़

अब जब इतने सालों से परेशानी झेलते आ रहे किसानों ने अपने हक की मांगों के लिए आवाज उठानी चाही तो भी मौजूदा सरपंच के पति व भूतपूर्व सरंपच राधेश्याम बघेल ने युवा किसान श्याम बघेल और रोहित बघेल पर हमला कर दिया। बात दें कि, रोहित और श्याम दो युवा किसान है जो पिछले 5 सालों से उक्त पंचायत में RTI के तहत एवं अनियमितता संबधित भ्रष्टाचार के खिलाफ लगातार अपनी आवाज उठा रहे हैं।

30 सितंबर को रोहित बघेल और श्याम बघेल दोनो पर भूतपूर्व सरपंच राधेश्याम बघेल और उनके भतीजे व पंचायत में रोजगार सहायक यशवंत बघेल ने कुछ दबंगों के साथ मिलकर मारपीट की और साथ ही उन्हें जान से मारने की भी धमकी दी है। गौर करने वाली बात ये है कि, जैतपुर कलां के किसान इस संबंध में कई बार जिला कलेक्टर, जिला पंचायत समेत जिलाधीश को पत्र लिखकर मामले से अवगत करा चुके हैं, लेकिन इसके बावजूद भी अभी तक सड़क निर्माण को लेकर कोई उचित सुनवाई नहीं की गई है।

जैतपुर कलां

हाल ही में हुए हमले को लेकर भी जिला पंचायत और जिला कलेक्टर को किसानों द्वारा कई मांगों के साथ ज्ञापन सौंपा गया है। मगर अभी तक प्रशासन की तरफ से कोई कार्यवाही नहीं की गई है। ऐसे में अब गांववासियों का सवाल है कि, क्या सच में सिवनी जिले के गांवों में भी जंगलराज फल-फूल रहा है?

खेती-बाड़ी और किसानी से जुड़ी अधिक जानकारी के लिए नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें-

https://www.youtube.com/c/Greentvindia/videos

Positive And Inspiring Stories पढ़ने के लिए नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें-

http://Hindi.theindianness.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © Rural News Network Pvt Ltd