Grameen News

True Voice Of Rural India

अन्तरिक्ष से कुछ ऐसा दिखता है मक्का, अन्तरिक्ष यात्री ने भेजी फोटो

1 min read
मक्का शरीफ

This pic Shared by UAE Astronaut.

Sharing is caring!

मुसलमानों के लिए दुनिया में सबसे पवित्र स्थान मक्का को माना जाता है। हर साल यहाँ दुनियाभर के मुसलमान हज करने के लिए आते हैं। हर एक मुसलमान की यह ख़्वाहिश होती है की अपने जीवन में कम से कम एक बार तो वो मक्का शरीफ का दीदार कर ले। नसीब वाले ही इस पवित्र स्थान पर पहुँच पाते हैं। जमीन पर रहते हुए मक्का शरीफ को देखने पर एक अलग ही नजारा होता है और आसमान यानि अन्तरिक्ष से देखने पर अलग नजारा होता है। हाल ही में सऊदी अरब के पहले अन्तरिक्ष यात्री हज्जा अल मंसूरी ने अन्तरिक्ष से मक्का शरीफ एक सैटेलाईट तस्वीर अपने ट्वीट्टर अकाउंट पर साझा की। इस तस्वीर को साझा करते हुए मंसूरी ने लिखा की यह वही जगह है जहां पर मुसलमानों का दिल बसता है।

मक्का के साथ भेजी आबूधाबी की भी तस्वीरें

हाल ही में अपनी अन्तरिक्ष यात्रा से वापस लौटे हज्जा ने  आने के बाद यह तस्वीर साझा की। इस तस्वीर के साझा करते ही यह तेजी से सोश्ल मीडिया पर वायरल हो गई। ज्ञात हो यूएई ने अपना पहला अन्तरिक्ष  25 सितंबर को अपने पहले अन्तरिक्ष यात्री  हज्जा अल मंसूरी को  कजाकिस्तान के बैकोनूर कोस्मोड्रोम से स्पेस में भेजा. इस यात्रा में हज्जा के साथ अमेरिका के अंतरिक्ष यात्री जेसिका मीर और रूसी यात्री कमांडर ओलेग स्क्रीपोचका भी उनके साथ गए थे। इन यात्रियों में केवल ओलेग स्क्रिपोचका ही तीन बार इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन गए हैं. बाकी हज्जा अल मंसूरी ओर उनकी अमेरिकी सहयात्री जेसिका मीर पहली बार इंटरनेशनल स्पेस सेंटर गए हैं। इन अन्तरिक्ष यात्रियों को सोयूज एमएस-15 स्पेस क्राफ्ट से अन्तरिक्ष में भेजा गया था। इनकी यह यात्रा 8 दिन की थी। इस उपलब्धि के बाद संयुक्त अरब अमीरात हज्जा अल मंसूरी को अपना हीरो घोषित कर चुका है  । अपने इस 8 दिन की यात्रा में इन यात्रियों ने कई एक्सपरिमेंट किए। इस दौरान हज्जा और उनकी टीम ने सऊदी अरब, अफ्रीका आदि की सैटेलाईट तस्वीरे ली। हज्जा ने अपने होम टाउन आबूधाबी से की भी पिक्चर अन्तरिक्ष से ली। इस पिक्चर को उन्होने अपने ट्वीटर पर साझा किया। हज्जा अल मंसूरी ने यह फोटो मक्का स्थित मस्जिद की ली थी। ज्ञात रहे मक्का दुनियाभर के मुसलमानों के लिए एक पवित्र स्थान है।

कौन है हज्जा अल मंसूरी :

हज्जा का पूरा नाम हज्जा अली अबदान खल्फान अल मंसूरी है। हज्जा एक एस्ट्रोनॉट (अन्तरिक्ष यात्री) है। संयुक्त अरब अमीरात और इस्लामिक देशों की  ओर से अन्तरिक्ष में जाने वाले पहले व्यक्ति हैं। उनका जन्म 1983 में अबुधाबी में हुआ था। उन्होने यूएई फोर्स को जॉइन किया ओर मिलट्री पायलट बने। हज्जा अल मंसूरी का अन्तरिक्ष यात्रा ले लिए चुनाव एक यूएई की स्पेस एजेंसी के कार्यक्रम के तहत हुआ था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दी थी बधाई:

भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बधाई देते हुए कहा था कि उनकी इस यात्रा से भारत को अपने मानव अंतरिक्ष मिशन के लिए प्रेरणा मिली है. पीएम मोदी ने ट्वीट किया था कि हमारे भाई हज्जा की सफल शुरुआत के बारे में जानकर बहुत खुशी हुई. इस दौरान नरेंद्र मोदी ने शेख मोहम्मद बिन जायेद की भी प्रसंशा की थी। ज्ञात रहे भारत भी अपने मानव अन्तरिक्ष उड़ान कार्यक्रम पर काम कर रहा है। साल 2022 तक भारत अन्तरिक्ष पर अपने अन्तरिक्ष यात्री भेज सकता है ।

खेती-बाड़ी से जुड़ी जानकारी के लिए नीचे दिए लिंक को क्लिक करें-

https://www.youtube.com/user/Greentvindia1/videos

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *