Grameen News

True Voice Of Rural India

भारत में राफेल आने पर क्यों चिढ़ा पाकिस्तान, ये हैं इस लड़ाकू विमान की खूबियाँ

1 min read
राफेल

भारतीय रक्षामंत्री राफेल में उड़ान भरते हुए

Sharing is caring!

दशहरा के मौके पर भारत ने फ़्रांस से अपना पहला लड़ाकू विमान राफेल हासिल कर लिया। यह अवसर भारत के लिए किसी विजय पर्व से कम नही है। बहुत से विवादों के बाद आखिरकार भारत ने विश्व के बेहतरीन लड़ाकू विमानों में से एक राफेल को अपना बना ही लिया। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने स्वयं फ़्रांस पहुँचकर भारत को मिलने वाले पहले राफेल विमान की पूजा की और करीब आधे घंटे तक इस विमान में उड़ान भरी। भारतीय वायुसेना में इस लड़ाकू विमान के शामिल होने से भारतीय सैन्य ताकत और बढ़ेगी।

राफेल अत्याधुनिक तकनीक से लैस है। इससे भारतीय वायु सेना की क्षमता काफी हद्द तक बढ़ जाएगी। लेकिन सोचने वाली बात यह है कि पहला राफेल भारत को मिला है लेकिन चिढ़ा  पाकिस्तान बैठा है। भारत के राफेल खरीदने पर पाकिस्तान चिढ़ा बैठा है और इसकी भड़ास वो टिवीटर पर निकाल रहा है। दर असल कश्मीर में 370 हटने के बाद से ही पाकिस्तान और भारत में तनाव बना हुआ है। जिसके बाद से पाकिस्तान हर एक मंच पर भारत से  मुंह की खा रहा है। इसलिए पाकिस्तान भारत की तरक्की को बर्दाश्त नही कर पा रहा है। पाकिस्तान ने टिवीटर पर फर्जी अकाउंट बनाकर इंडियन एयरफोर्स और राफेल का मज़ाक बनाया। टिवीटर पर पाकिस्‍तानी फर्जी ट्विटर हैंडर से भारत विरोधी हैशटैग भी चलाए गए. इनमें करीब 70 हजार से अधिक ट्वीट और रिट्वीट किए गए.

एफ-16 से शक्तिशाली है राफेल 

भारत से चिढ़ा पाकिस्तान सोश्ल मीडिया पर अपनी भड़ास निकाल रहा है। पाकिस्तान  ने भारत के कुछ विमान हादसों की फोटो भी शेयर कीं.एक ट्वीट  में पाकिस्तान ने भारत की एयर फोर्स को विश्व की सबसे खराब एयरफोर्स बताया और उसका मज़ाक बनाया। भारतीय यूजर ने भी पाकिस्तानियों को टिवीटर पर अभिनंदन की याद दिलाते हुए खूब लताड़ा। दरअसल पाकिस्तान भारत से इसलिए चिढ़ा हुआ क्योंकि भारत के राफेल खरीदने से  भारत की सैन्यक्षमता ओर अधिक मजबूत होगी और राफेल के सामने पाकिस्तान के लड़ाकू विमान कही भी नहीं टिकते। हालांकि कुछ समय पहले पाकिस्तान में भी राफेल खरीदने का मुद्दा उठा था, लेकिन पाकिस्तान अभी तक राफेल नही खरीद पाया है। ज्ञात रहे 2022 तक भारत 36 राफेल मिलने हैं रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने अपने टिवीटर के माध्यम से यह जानकारी दी कि फरवरी 2021 तक भारत को 18 राफेल लड़ाकू विमान मिल जाएंगे। उन्होने कहा कि इससे देश की सुरक्षा मजबूत होगी ओर इसके लिए हम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद देते हैं।

इसलिए पाकिस्तान के एफ-16 को टक्कर देता है राफेल 

राफेल विमान को फ्रांस के द्वारा भारतीय वायुसेना के हिसाब से बनाया गया है, जिसमें भारत की जरूरतों का ध्यान रखा गया है. राफेल विमाम 4.5 जेनरेशन का लड़ाकू विमान है जो भारतीय वायुसेना में एक तरह से जेनरेशन का बदलाव करेगा. इस विमान में 24500 Kg. भार ढोने की क्षमता है, साथ ही विमान के जरिए एक साथ 125 राउंड गोलियां निकलती हैं जो किसी को भी चीर कर रख सकती हैं. यदि भारत के राफेल ओर पाकिस्तान के एफ-16 की बात करें तो कई मामलों में राफेल पाकिस्तान के एफ-16 से आगे है।

  • ऊंचाई की बात करें तो राफेल करीब 60 हजार फीट प्रति मिनट की दर से ऊंचाई चढ़ सकता है। जबकि एफ-16 के ऊंचाई पर जाने का दर करीब 50 हजार फीट प्रति मिनट है।
  • वहीं अगर गति की बात की जाए, तो राफेल करीब 2,223 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से उड़ सकता है। जबकि एफ-16 की गति करीब 2,414 किमी प्रति घंटा है।
  • आकार और ताकत के मामले में राफेल, एफ-16 से बेहतर है। राफेल के डैनों की लंबाई 90 मीटर, जबकि एफ-16 की 9.96 मीटर है।
  • राफेल की लंबाई 30 मीटर और एफ-16 की 15.06 मीटर है। राफेल का कुल वजन 10 टन है, यह करीब 24.5 टन वजन के हथियार लेकर उड़ सकता है। वहीं, पाकिस्तान के एफ-16 का वजन 9.2 टन है। इसकी हथियार लेकर उड़ने की क्षमता महज 21.7 टन है।
  • रेंज के मामले में राफेल, एफ-16 से थोड़ा पीछे है। राफेल की रेंज करीब 3700 किमी है। जबकि एफ-16 की रेंज करीब 4220 किमी है।
  • भारत का राफेल आधुनिक जेनरेशन का है। यह 5 जेनरेशन लड़ाकू विमान है। जबकि एफ-16 चौथी जेनरेशन का है।
  • राफेल परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम सेमी-स्टेल्थ लड़ाकू विमान है।पाकिस्तान के एफ-16 में यह सुविधा नहीं है।

खेती बाड़ी से जुड़ी जानकारियों के लिए नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें-:

https://www.youtube.com/user/Greentvindia1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *