Grameen News

True Voice Of Rural India

विधानसभा चुनाव 2019 : महाराष्ट्र में भाजपा और शिवसेना ने मारी बाजी तो हरियाणा में फ़सा पेंच

1 min read
BJP Congress

प्रतिकात्मक चित्र

Sharing is caring!

देश के दो बड़े राज्यों हरियाणा और महाराष्ट्र में हुए विधानसभा चुनाव होने के बाद सबकी नज़रे नतीजों पर टिकी हुई है। दोनों राज्यों में गिनती चालू है। फिलहाल जो रुझान सामने आ रहे हैं, उनके हिसाब से महाराष्ट्र में भारतीय जनता पार्टी और शिवसेना का गठबंधन बाजी मार रहा है। हरियाणा से आ रहे रुझानों के हिसाब से काँग्रेस और बीजेपी में दाव फंस सकता है।

हरियाणा में गठबंधन कर काँग्रेस बना सकती है सरकार, महाराष्ट्र में भाजपा और शिवसेना का रास्ता साफ

महाराष्ट्र में भाजपा और शिवसेना 163 सीटों के साथ आगे हैं हालांकि पिछले विधानसभा चुनाव के मुक़ाबले इस गठबंधन को लगभग 20 सीटों का नुकसान हो रहा है, वही काँग्रेस मजबूत विपक्ष के रूप उभरकर सामने आ रहा है। कोंग्रस ने महाराष्ट्र में 101 सीटों पर पकड़ बना रखी है। जबकि पिछले विधानसभा चुनाव के मुक़ाबले काँग्रेस को 8 सीटों पर बढ़त मिली है।

महाराष्ट्र में भाजपा का सरकार बनाने का रास्ता एकदम साफ है, लेकिन इसी बीच शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने अदित्य ठाकरे के लिए सीएम पद की मांग कर दी है। शिवसेना ने इस गठबंधन में 62 सीटों पर बाजी मारी है, वही भाजपा के खाते में 104 सीटें आई है । काँग्रेस के गठबंधन करने वाली शरद पँवार की पार्टी राकांपा ने 52 सीटें हासिल की है। फिलहाल महाराष्ट्र में भाजपा और शिवसेना की सरकार बनना लगभग तय है।

चुनाव नतीजे  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

हरियाणा के रुझानों का देखते हुए सरकार ने काँग्रेस और भाजपा में उठापटक हो सकती है। हरियाणा में भाजपा 40  सीटों से आगे है जबकि काँग्रेस 34 सीटों के साथ टक्कर दे रही है। इसी साल पार्टी बनाने वाले दुष्यंत सिंह चौटाला 10 सीटों पर आगे चल रहे हैं। दोनों में से किसी भी पार्टियों को बहुमत हासिल नहीं हुआ है। दुष्यंत चौटाला की जननायक जनता पार्टी इस चुनाव मेन किंगमेकर की भूमिका निभा सकती है । क्योंकि काँग्रेस और भाजपा दोनों पार्टियों को राज्य में सरकार बनाने के लिए गठबंधन की आवश्यकता पड़ेगी।

इस बीच काँग्रेस के लीडर भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने गैर बीजेपी संगठनों से काँग्रेस के साथ आने के लिए कहा है। इसी बीच दुष्यंत चौटाला ने भी कहा कि हरियाणा की जनता बदलाव चाहती है । यानि इससे ज़ाहिर है की दुष्यंत चौटाला काँग्रेस के साथ आ सकते हैं। काँग्रेस और भाजपा दोनों ही पार्टियां हरियाणा में अपनी सरकार बनाने की पूरी कोशिश करेगी। उम्मीद की जा रही है कि काँग्रेस गठबंधन के साथ राज्य में वापसी करेगी।

खेती-बाड़ी से जुड़ी सभी जानकारी के लिए नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें-

https://www.youtube.com/watch?v=9hYLD61D_6c

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *