Grameen News

True Voice Of Rural India

Kisan Bulletin 24th Nov- बढ़ाई जाएगी धान की खरीद मात्रा

1 min read
Kisan Bulletin 24th Nov

Kisan Bulletin 24th Nov

Sharing is caring!

Kisan Bulletin 24th Nov-

  1. पिछले करीब एक हफ्ते से ओडिशा में चल रहा किसानों का आंदोलन आखिरकार अब जाकर खत्म हुआ.. दरअसल, ओडिशा सरकार ने किसानों की ज्यादातर मांगो को मान लिया है… अब जिन किसानों के पास टोकन नहीं है, उन्हें भी टोकन दिया जाएगा.. और साथ ही धान की खरीद मात्रा को भी बढ़ाया जाएगा.. तो वहीं राज्य सरकार के एक वरिष्ठ नेता की मानें तो जिन किसानों को मोबाइल टोकन नहीं भेजा गया है.. वो किसान मंडी में जब धान बेचने आएंगे तो उन्हें वहीं टोकन दिया जाएगा.. आपको बता दें कि, बीते गुरुवार को क्षेत्र के संबलपुर और बरगढ़ जिले के किसानों ने कोलकाता-मुंबई राजमार्ग में धान से लदी गाड़िया और भरे बोरे रखकर विरोध-प्रदर्शन शुरू कर दिया था। इससे राजमार्ग पर दोनों ओर सैकड़ों की संख्या में गाडियां जाम में फंस गई, जिसकी जानकारी मिलने पर सरकार के प्रतिनिधि और किसान नेताओं के बीच बातचीत शुरू हुई और किसानों को समझाबुझाकर मामले को शांत कराया गया। सरकार के प्रतिनिधियों ने धान बिक्री में समस्या का समाधान करने का आश्वासन देकर आंदोलन खत्म कराया। किसानों ने सरकार को इस दौरान तीन प्रस्ताव दिए थे, जिन्हें पूरा करने का आश्वासन दिया गया है। जिसके अनुसार, अब धान लेकर मंडियों में बेचने पहुंचे किसानों के पास आनलाइन टोकन नहीं होने पर उनके लिए मंडी में ही टोकन की व्यवस्था की जाएगी। इसके अलावा धान बिक्री में कोई सीलिग नहीं होगी। किसान एक बार में 80 क्विंटल धान बेच सकेंगे।

2. छत्तीसगढ़ के देवभोग के गरियाबंद के किसान इन दिनों काफी परेशान चल रहे हैं. आपको बता दें कि, प्रशासन की नीतियों के विरोध में यहाँ के दुकानदारोंने प्रशासन की सख्ती के बाद से अपनी दुकानों के सामने बोर्ड लगा दिया है कि वो किसानों से धान की खरीदी नहीं करेंगे. जिसके चलते यहाँ के किसान धान की चिल्हर बिक्री नहीं कर पर रहे हैं. वहीं ऐसा न कर पाने से इस समय यहाँ के किसान प्रशासन से लेकर दुकानदारों से काफी परेशान हैं. क्योंकि इस समय यहाँ के किसानों के पास चिल्हर धान बेचने का कोई विकल्प नहीं बचा है. यही वजह है कि, बीते दिन देवभोग के नाराज किसानों ने अपना धान सड़क पर फेंकना शुरू कर दिया. वहीं अपना आक्रोश भी व्यक्त किया. जिसके बाद मौके पर पुलिस भी वहां पहुंच गई और हालात पर काबू किया.

3. हमारे देश में आए दिन सिस्टम से नाराज किसान प्रदर्शन कर आक्रोश दर्ज कराते रहते हैं. जिसकी एक बड़ी वजह कभी प्रशासन तो कभी प्रशासन से जुड़े अधिकारी होते हैं. जो किसानों को परेशान करते रहते हैं. इसी तरह बीते दिन गुजरात के धोराजी से एक खबर सामने आई. जहाँ महेश हिरपरा नाम के एक किसान की फसल खराब बीते दिनों खराब हो गई थी, वहीं सरकार से किसान को फसल बीमा मिलना था. हालांकि, बीमा कंपनियों से किसानों को कोई मदद नहीं मिली. जिसके चलते किसान आर्थिक परेशानियों से घिर गया था. वहीं इस दौरान किसान ने कई बार सरकारी दफ्तरों से लेकर कई अधिकारियों के चक्कर काटे, हालांकि उसकी सुनवाई नहीं हुई. जिसके चलते बीते दिन किसान ने एक गड्ढा खोदकर अपने शरीर को उसमें दबा दिया. इस दौरान महज उसका सिह ही दिखाई दे रहा था. वहीं ऐसा करने में किसान के संबंधियों व पड़ोसियों ने किसान की मदद की, ताकि प्रशासन की आंख खुल सके और किसान की बात सुनी जा सके. गौरतलब है कि, जहां एक तरफ कई स्थानों पर किसान विरोध-प्रदर्शन कर रहे हैं. वहीं किसान भी अपने-अपने तरीकों से सरकार के सामने अपनी समस्या दर्ज कराना चाहते हैं

खेती-बाड़ी से जुड़ी सभी जानकारियों के लिए नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें-

https://www.youtube.com/user/Greentvindia1/videos

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *