True Voice Of Rural India

Kisan Bulletin 8th Nov- काजू की खेती किसानों को करेगी मालामाल!

1 min read
Kisan Bulletin 8th Nov

Kisan Bulletin 8th Nov

Sharing is caring!

Kisan Bulletin 8th Nov- 

  1. देश की राजधानी दिल्ली में जहाँ बीते कुछ समय से प्रदूषण की मार कई गुना बढ़ गई है. वहीं राज्य सरकारें भी इस बढ़े प्रदूषण को लेकर किसानों की पराली को जिम्मेदार बता रही हैं. जिसको लेकर किसानों पर कार्रवाई भी की जा रही है. वहीं चरखी के दादरी जिले के घिकाड़ा गांव के सरपंच सोमेश ने किसानों के लिए अनूठी पहल कायम की है. आपको बता दें कि, गांव के सरपंच ने पर्यावरण बचाने की पहल करते हुए पराली नहीं जलाने वाले किसानों को हवाई सैर कराकर जागरूकता का संदेश दिया है. इस दौरान हवाई सैर करने वाले किसानों ने भी संकल्प लिया कि, वो न तो पराली जलाएगें और न ही अपनी नजर में किसी को पराली जलाने देंगे. ऐसा करने वाले किसानों को जागरूक भी किया जाएगा. आपको बता दें कि, गांव के सरपंच सोमेश ने हवाई सैर कराने की घोषणा पिछले साल की थी. जिसमें उन्होंने 25 किसानों को हवाई सैर कराने के लिए चुना था. वहीं इस बार भी पराली न जलाने वाले 15 किसानों को सरपंच ने गुजरात की हवाई यात्रा कराई है. सरपंच ने बताया कि बीते 30 अक्टूबर को इन सभी किसानों को सबसे पहले हिसार के अग्रोहा धाम ले जाया गया. वहाँ दर्शन के बाद किसानों को फिरोजपुर जिले में हुसैनीवाला स्थित भारत-पाकिस्तान सीमा पर भारतीय सीमा सुरक्षाबल के जवानों की परेड़ दिखाने के लिए ले जाया गया. जिसके बाद अगली सुबह बठिंडा से हवाई मार्ग से जम्मू ले जाया गया और माता वैष्णो के दर्शन कराए गए. गौरतलब है कि, जहाँ पराली के चलते किसानों को प्रशासन की सख्ती का सामना करना पड़ रहा है, वहीं सरपंच के इस कदम की सराहना सब जगह हो रही है.
  2. जहाँ एक तरफ देश में कई जगह किसानों की हालत सुधारने की कोशिशों पर जोर दिया जा रहा है. वहीं मध्य प्रदेश में किसानों की माली हालत बेहतर के लिए सरकार नवाचारों पर जो दे रही है. जिसके चलते राज्य में बंजर पड़ी जमीन पर काजू की खेती करने के लिए किसानों को प्रोत्साहित किया जा रहा है. वहीं सरकार का ये प्रयास किसानों को भी रास आने लगा है. उद्यानिकी विभाग के एक अधिकारी की मानें तो, छिंदवाडा, बालाघाट और सिवनी जिले की जलवायु को काजू की खेति के लिए उपयुक्त माना गया है. इसी के चलते इन जिलों में राष्ट्रीय कृषि विकास योजना “रफ्तार” में इस साल काजू क्षेत्र विस्तार कार्यक्रम को लागू किया गया है. गौरतलब है कि, इन जिलों में अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और सामान्य वर्ग के किसानों ने कुल 1,430 हेक्टेयर क्षेत्र में काजू के एक लाख 60 हजार पौधों का रोपण किया गया है. यहीं नहीं आने वाले दिनों में लगभग एक लाख 26 हजार पौधे किसानों को और उपलब्ध कराए जाएंगे. जाहिर है जहां एक तरफ आए दिन किसान कभी सूखा तो कभी बाढ़ की परेशानियों से परेशान होते हैं तो वहीं इससे उबरने के लिए सरकार किसानों नई योजनाओं के साथ तमाम रियायत देती है. इसी दिशा में जहां सरकार किसानों को खेती-पशुपालन के क्षेत्र में नवाचारों को प्रोत्साहित कर रही है वहीं काजू की खेती भी इन्हीं में से एक है. ताकि किसानों को मजबूत और सशक्त बनाया जा सके.
  3. बीते रोज जहाँ देश के कई हिस्से में बूंदाबादी हुई तो, वहीं कई जगह ये बादल बरसे भी. आपको बता दें कि बीते दिन हरियाणा के नारनौल और महेंद्रगढ़ में बारिश हुई. सुबह हई इस बारिश से किसानों का जहां मंडी में पड़ा लगभग 7 हजार क्विंटल बाजरा पूरी तरफ भीग गया तो वहीं मंडियों के साथ-साथ बाजारों में भी कीचड़ फैल गया. गौरतलब है कि, महेंद्रगढ़ की अनाज मंडी में एक भी शेड़ नहीं है. जिससे किसानों का बाजार खुले में पड़ा था. इस दौरान जहां किसान अपनी फसल को भीगने से नहीं बचा तो वहीं बिना शेड के चलते किसानों को अपना अनाज बचाने के लिए काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा. वहीं जिले में ये बारिश दो एमएम दर्ज की गई, साथ ही तापमान में भी 4 डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज की गई. इस दौरान किसानों का भी गुस्सा प्रशासन को लेकर साफ दिखाई दिया. जहां किसानों ने कहा कि, प्रशासन जहां मंडी के नाम पर कुछ नहीं देती, वहीं उन्होंने कहा कि, यहां मंडियों में चारों तरफ गंदगी फैली है. न तो यहां की नालियां ठीक हैं और नहीं पानी की निकासी का कोई सिस्टम है. ऐसे में अनाज को नुकसान होना तो लाजिमी है. वहीं मौसम विभाग की मानें तो, शनिवार को मौसम साफ रहेगा. आपको बता दें कि जहां इस बारिश से सरसों की फसल को काफी फायदा हुआ है तो वहीं इस बारिश के बाद से गेहूं चना जौ की फसल की बिजाई में तेजी आने की उम्मीद है. जबकि कपास की पछेती फसल को इस बारिश से काफी नुकसान होने की उम्मीदें हैं.

खेती-बाड़ी से जुड़ी सभी जानकारियों के लिए नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें-

https://www.youtube.com/user/Greentvindia1/videos

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *