Grameen News

True Voice Of Rural India

Kisan bulletin 4th jan- दूर होंगी सम्मान निधि से जुड़ी सभी परेशानियां

1 min read
Kisan bulletin 4th jan

Sharing is caring!

Kisan bulletin 4th jan-

  1. जब भी किसी भी राज्य में कोई भी सरकार आती है तो किसान सरकार से काफी सारी अपेक्षाएं लगा लेते हैं, कुछ इसी तरह झारखंड में नई सरकार के गठन के बाद भी यहां के किसानों ने यहां के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेने से अपेक्षाएं लगा रखी थी की राज्य में किसानों को जल्द ही कर्ज माफी की खुशखबरी मिल सकती है. हालांकि अभी तक सरकार की तरफ से ऐसा कोई ऐलान नहीं किया गया है. लेकिन ऐसा माना जा रहा है कि, झारखंड में किसानों के लिए जल्द ही कई बड़ी योजनाओं का ऐलान किया जा सकता है. वहीं किसानों को सरकार से आस है कि, सरकार जल्द ही उनके लिए योजनाओं की विस्तार करेगी और उनकी आय बढ़ाने के लिए हेमंत सोरेने सरकार हर संभव कोशिश करेगी. वहीं अभी से ऐसा माना जा रहा है कि, सरकार किसानों के लिए कई कल्याणकारी योजनाएं चला सकती है, साथ ही जमीन का निजी कंपनियों के लिए अधिग्रहण भी बंद किया जा सकता है. इसके साथ ही किसानों और खेतिहर मजदूरों के लिए कर्ज माफी की जा सकती है, जबकि बहुचर्चित योजना मनरेगा में 100 दिनों की बजाए न्यूनतम 150 दिन तक का काम सुनिश्चित किया जा सकता है. इन सबसे अलावा स्वरोजगार के लिए भी सरकार 15 हजार रुपये का अनुदान देने की घोषणा कर सकती है. हालांकि अभी देखने वाली बात होगी की आने वाले दिनों में सरकार किसानों के लिए किन-किन योजनाओं की शुरुवात करती है.
  2. बीते साल केंद्र सरकार ने देश के किसानों को आर्थिक सहायता देने के उद्देश्य से पीएम किसान सम्मान निधि की शुरूआत की थी.. जिसके तहत किसानों को 3 किस्तों के तौर पर सालाना 6 हजार रूपये दिए जा रहे है.. लेकिन जहां एक तरफ कई राज्यों के किसानों को बीते साल की तीनों किस्तों का लाभ मिल चुका है, तो वहीं दूसरी तरफ कई किसान ऐसे भी हैं.. जो कागजों में मिली कुछ गड़बड़ी के कारण या फिर कई और दूसरी कठिनाईयों के चलते इस योजना का लाभ अभी तक नहीं ले पाए हैं.. औऱ तो और ऐसे किसानों को ये तक नहीं मालूम होता कि, आखिर वो ऐसी स्थिति में करें तो क्या करें.. बस अपनी परेशानी लिए वो इधर से उधर दफ्तरों के चक्कर काटने पर ही मजबूर हो जाते हैं.. ऐसे में किसानों की इन समस्याओं को देखते हुए केंद्र सरकार ने किसानों के लिए पीएम किसान सम्मान निधि योजना का एक टोल फ्री नंबर 155261 जारी किया है, इस नंबर के जरिए किसान योजना से जुडी अपनी सभी समस्याओं का समाधान जान सकते हैं.. चाहें वो समस्या योजना के पैसों से जुड़ी हो, या फिर आपके किसी कागजातों की गड़बड़ी से.. यानि की कुल मिलाकर अब किसानों के लिए योजना से जुड़ी सभी समस्याओं का समाधान पाना काफी आसान हो गया है।
  3. मौसम के बदलते मिजाज ने जहां एक तरफ पर्वतीय इलाकों में बर्फ की मार से लोगों को बेहाल कर दिया है, वहीं मैदानी इलाकों में बारिश और कुछ जगहों पर हुई ओलावृष्टि ने किसानों की मुश्किलें बढ़ा दी हैं. क्योंकि बीते रोज उत्तर प्रदेश के राठ में ओलावृष्टि के चलते किसानों की खेत में खड़ी फसल चौपट हो गई. आपको बता दें कि, ओलावृष्टि से बहगांव और सरसेड़ामाफ मौजा गांव के करीब दो सौ से ज्यादा किसानों की फसल ओला गिरने से बर्बाद हो गई. रात में हुई इस ओलावृष्टि से जब अगले दिन किसान खेतों में पहुंचे तो उन सभी ने अपना सिर पकड़ लिया. जिसके बाद इसकी सूचना वहां के विधायक, जिला पंचायत अध्यक्ष और तहसीदार को दी गई. सूचना मिलते ही इन्होंने यहां जाकर किसानों की खराब हुई को देखा और हरसंभव मदद की दिलासा दी. आपको बता दें कि, रात में हुई इस ओलावृष्टि को देखने जब किसान अपने खेतों में पहुंचे तो उन्होंने देखा की खेतों में ओलों की मोटी परत जम गई थी. जिसके चलते गेहूं, चना, मटर के साथ सारी फसलें नष्ट हो चुकी हैं. यहीं नहीं इन ओलों से किसानों की सरसों की फसल को भी काफी छती पहुंची है. क्योंकि ओलों के चलते सरसों और लाही के पौधें टूट गए. वहीं बहगांव के प्रधान चंद्रप्रकाश की मानें तो उन्होंने कहा कि, करीब 1 हजार बीघे में खड़ी फसल पूरी तरह बर्बाद हो गई. जिसके लिए हमने कानूनगो रमेश चंद्र सोनी सहित लेखपालों की भी मौके पर बुलाया और मुआयना कर, मुआवजे की मांग की है.

खेती-बाड़ी से जुड़ी सभी जानकारियो के लिए नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें-

https://www.youtube.com/user/Greentvindia1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *