Grameen News

True Voice Of Rural India

Kisan Bulletin 2nd Dec- 50 रूपये प्रति क्विंटल बढ़ेंगे गन्ने के दाम!

1 min read
Kisan Bulletin 2nd Dec

Kisan Bulletin 2nd Dec

Sharing is caring!

Kisan Bulletin 2nd Dec- 

  1. इसी साल 11 सिंतबर को उत्तर प्रदेश के मथुरा से पशु रोग नियंत्रण कार्यक्रम और राष्ट्रीय कृत्रिम गर्भाधान कार्यक्रम की शुरूआत की गई थी.. जिनकी हाल ही में आई कुछ रिपोर्टों के अनुसार, इस योजना से बीते तीन महीनों में देशभर के 3.7 लाख से अधिक किसानों को फायदा हुआ है, जिसमें से 1 लाख 77हजार 613 गायों को और 1 लाख 78 हजार 614 भैंसों को कृत्रिम गर्भधारण कराया गया है.. जानकारी के अनुसार, प्रतिदिन करीब 25,000 पशुओं को कृत्रिम गर्भधारण कराया जा रहा है जिसके चलते अब अगले 6 महीने में देश के 1 करोड़ गो – जातीयों का बीजारोपण और उनके कान में पशुआधार टैग का पहनाने का लक्ष्य रखा गया है.. आपको बता दें कि, इस योजना का मुख्य उद्देश्य देशभर के 60 करोड़ से ज्यादा पशुओं को मुहंपका रोग और ब्रुसेलोसिस रोग के नियंत्रण के लिए टीकाकरण करना और साथ ही, राष्ट्रीय कृत्रिम गर्भधान कार्यक्रम के तहत देश के 687 जिलों में पशुओं को कृत्रिम गर्भधारण कराया जाना है.. कुछ खबरों की मानें तो आगे चलकर इस योजना को देश के 6,000 जिलों में विस्तार करने की भी तैयारी की जा रही है..
  2. देश के किसानों को आने वाले दिनों में मोदी सरकार बड़ा तोहफा देने वाली है. आपको बता दें कि, केंद्र सरकार आने वाले दिनों में फल और सब्जियों की प्रसंस्करण की क्षमता को बढ़ाने के लिए किसानों को 10 लाख रुपऐ तक की सब्सिडी मुहैया कराने जा रही है. इस योजना को मंजूरी देने के लिए खाद्य प्रंसस्करण मंत्रालय ने इसे वित्त मंत्रालय के पास भेज दिया है. वहीं आपको बता दें कि, इस योजना का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण स्तर पर प्रसंस्करण क्षमता में बढ़ोतरी लाने के साथ-साथ किसानों की आय दोगुना करना है. वहीं इस योजना द्वारा किसानों को खाद्य प्रसंस्करण मंत्रालय की तरफ से 2 हजार करोड़ रुपये की मदद दी जाएगी. वहीं खबरों की मानें तो, मौजूदा संसद के शीतकालीन सत्र में इस योजना के प्रस्वात को भी मंजूरी मिल सकती है. जिसके चलते गांवों के छोटे उद्योगों को आत्मनिर्भर बनाने, आधुनिक बनाने और फूड प्रोसेसिंग में उनकी प्रतिस्पर्धात्मक क्षमता को बढ़ाने में काफी मदद मिलेगी.
  3. साल 2013 में हरियाणा में भारतीय किसान संघ ने प्रति क्विंटल गन्ने का मूल्य बढ़ाने के लिए आंदोलन किया था. जिसके चलते हरियाणा की हुड्डा सरकार ने मजबूरन गन्ने के दामों को बढ़ाया था. ठीक उसी तरह एक बार फिर भारतीय किसान संघ ने फिर से आंदोलन करने की बात कही है, आपको बता दें कि, जहाँ 2013 में हुड्डा सरकार ने प्रति क्विटंल गन्ने की खरीद में 45 रुपये बढ़ाए थे, वहीं हरियाणा के कैथल के जिलाध्यक्ष सतीश कुमार ग्योंग ने कहा कि, हम आने वाली 20 दिंसबर की तारीख तक सरकार को मोहलत देते हैं. सरकार गन्ने का मूल्य बढ़ा दे, वरना हम आने वाले नए साल में यानि की एक जनवरी से अपना आंदोलन एक बार फिर से शुरू करेंगे और पांच जनवरी तक पूरे प्रदेश की चीनी मिलों को बंद करा देंगे. जिसके बाद जब दाम में इजाफा किया जाएगा, तभी मिलें शुरू की जाएगीं.  साथ ही उन्होंने कहा कि जहां पिछले साल गन्ने का मूल्य 30 रुपये बढ़ा वहीं उसका खर्च कई गुना बढ गया. जिसके चलते किसान परेशान होते हैं. गन्ने को लगाने से लेकर उसके मिल तक पहुंचने में हमारे न जानें कितने पैसे खर्ज हो जाते हैं. इसलिए जल्द से जल्द सरकार 20 दिंसबर तक इस पर विचार करने वरना हम फिर से आंदोलन करने पर मजूबर हो जाएगें.

खेती-बाड़ी से जुड़ी सभी जानकारियों के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें-

https://www.youtube.com/user/Greentvindia1/videos

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *