Grameen News

True Voice Of Rural India

Kisan Bulletin 27th Nov- सब्जी की खेती करने पर किसानों को मिलेगा अनुदान

1 min read
Kisan Bulletin 27th Nov

Kisan Bulletin 27th Nov

Sharing is caring!

Kisan Bulletin 27th Nov-

  1.     हाल ही में राष्ट्रीय किसान मजदूर महासंघ के प्रतिनिधिमंडल ने कश्मीर का 5 दिवसीय दौरा किया, इस दौरानइस प्रतिनिधिमंडल में राष्ट्रीय किसान मजदूर महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री शिव कुमार कक्काजी, राष्ट्रीय महामंत्री श्री जे. के. पटेल और युवा इकाई के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अभिमन्यु कोहाड़ शामिल थे। जिन्होंने कश्मीर के करीब 25 गांवों का दौरा किया और साथ ही हजारों किसानों से मुलाकात कर उनकी परेशानियों के बारे में बातचीत की.. इस दौरान किसानों ने बताया कि, कश्मीर की 85 प्रतिशत आबादी की आजीविका सेब की बागवानी पर ही टिकी हुई  है… मगर बीते 7 नवंबर को हुई बर्फबारी ने सेब किसानों की कमर तोड़ दी
    है.. दरअसल, इस बर्फबारी में करीब 50 प्रतिशत सेब के पेड़ टूट गए हैं तो वहीं 20 दिन बीत जाने के बाद भी अभी तक किसी भी अधिकारी ने नुकसान का मुआयना नहीं किया है.. इतना ही नहीं, किसानों की मानें तो अभी उनको पिछले साल हुए नुकसान का मुआवजा भी नहीं मिला है.. शिव कुमार कक्का जी ने बताया कि, कुछ दिनो पहले सरकार ने दावा किया था कि, नेफेड किसानों से 5500 करोड़ का सेब खरीदेगी। मगर धरातल स्तर पर इसका जायज़ा लेने के बाद सरकार के सभी दावे खोखले नज़र आये। आपको बता दें कि, इस दौरे के दौरान राष्ट्रीय किसान मजदूर महासंघ को किसानों की कई समस्याओं का जमीनी स्तर पर पता चला जिसके चलते राष्ट्रीय किसान मजदूर महासंघ के एक प्रतिनिधिमंडल ने फैसला किया है कि, वो जल्द ही केंद्रीय कृषि मंत्री से मुलाकात करेगा और जम्मू-कश्मीर के किसानों के लिए तत्काल मुआवजे की मांग करेगा। अगर सरकार किसानों को तत्काल राहत नहीं देती है तो महासंघ द्वारा राष्ट्रव्यापी आंदोलन का
    रास्ता भी अपनाया जाएगा।

    2.     उत्तर प्रदेश स उत्तर प्रदेश सरकार ने राज्य के किसानों के लिए संकर प्रजाति की शाक सब्जी विकास के लिए एकीकृत बागवानी विकास योजना की शुरूआत की है रकार ने राज्य के किसानों के लिए संकर प्रजाति की शाक सब्जी विकास के लिए एकीकृत बागवानी विकास योजना की शुरूआत की है.. आपको बता दें कि, ये योजना पहले से ही राज्य के 45 जनपदों में चलाई जा रही है, मगर अब इसे 30 और जनपदों में शुरू किया जाने वाला है.. जानकारी के अनुसार, किसानों की आमदनी को दोगुना करने के लक्ष्य को पूरा करने के लिए राष्ट्रीय स्तर पर कई योजनाएं चलाई जा रही हैं, जिनमें से एक राष्ट्रीय कृषि विकास योजना भी है.. इस योजना के तहत केंद्र सरकार राज्य के साथ मिलकर किसानों को अलग-अलग सब्जियों की खेती के लिए सब्सिडी दे रही हैं। इसके लिए राज्य और केंद्र सरकार के सहयोग से किसानों को लागत का 40 प्रतिशत अनुदान दिया जाता है.. आपको बता दें कि, ये योजना पूरी तरह से ऑनलाईन है , इस योजना का लाभ लेने के लिए किसान को किसान सेवा पोर्टल upagriculture.com पर अपना पंजीकरण कराकर आनलाईन आवेदन करना पड़ेगा।

    3.     देश के अधिकतर हिस्से में जहाँ अभी भी किसान पीएम किसान सम्मान निधि योजना की दूसरी और तीसरी किस्त का इंतजार कर रहे हैं. वहीं दूसरी तरफ हरियाणा के जींद के किसान इन दिनों इस योजना का लाभ लेने के लिए किसान कृषि विभाग व कामन सर्विस सेंटरों के चक्कर काटने पर मजबूर हैं. गौरतलब है कि, पिछले दो महीनों से पीएम किसान निधि पोर्टल बंद पड़ा हुआ है. जिसके चलते न तो किसान नए आवेदन कर पा रहे हैं और न ही इस पर कोई
    अपडेट हो पा रहा है. यही वजह है कि, इस समय यहां के किसान एक जगह से दूसरी जगह के चक्कर काटने पर मजबूर हैं. आपको बता दें कि इस जिले में  लगभग 50 सीएससी को ही पोर्टल के आईडी व पासवर्ड जारी किए गए हैं. जिसके चलते सभी अन्य सीएससी पर फार्म अपलोड नहीं हो रहा है. वहीं कुछ किसानों की मानें तो उनका कहना है कि, जब इस योजना की शुरूवात हुई थी तभी हमने अपने दस्तावेज पटवारी के पास जमा करा दिए थे. हालांकि इसके बावजूद भी वो
    पीएम किसान सम्मान निधि योजना से वंचित रह गए हैं. जिसके चलते उन्हें फिर से इस योजना के लिए आवेदन करना है. हालांकि पोर्टल के न चलने से परेशानियां बढ़ गई हैं.

खेती-बाड़ी से जुड़ी सभी जानकारियों के लिए नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें-

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *