Grameen News

True Voice Of Rural India

Kisan Bulletin 12th Oct- हरियाणा सरकार ने जैविक उर्वरकों पर लगाया प्रतिबंध

1 min read
Kisan Bulletin 12th Oct

Kisan Bulletin 12th Oct

Sharing is caring!

Kisan Bulletin 12th Oct- 

  1. रासायनिक उर्वरकों से होनेवाले नुकसान को देखते हुए एक ओर जहां केन्द्र की बीजेपी सरकार किसानों को जैविक खेती अपनाने की अपील कर रही है तो वहीं हरियाणा की बीजेपी सरकार ने इसे लेकर एक अलग ही फैसला लिया है। हरियाणा की खट्टर सरकार ने जैविक खेती में काम आनेवाले जैविक उर्वरकों (बायो फर्टिलाईजर) की बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया है। सरकार के इस फैसले के बाद जहां जैविक खेती करनेवाले किसानों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है तो वहीं सरकार का कहना है कि उसने यह कदम किसानों के हित में उठाया है। दरअसल हरियाणा सरकार की माने तो उसने जैविक उर्वरक की बिक्री पर बैन इसलिए लगाया है ताकी मार्केट में जैविक उर्वरक बेचनेवाली कंपनियों पर लगाम लगाई जा सके। सरकार का कहना है कि बायो फर्टिलाइजर बनाने वाली बहुत सी कंपनियां पंजीकृत नहीं है। ऐसे में इन कंपनियों को नियम के अधीन लाने के लिए यह अनिवार्य हो गया था। बता दें कि सरकार ने पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट के आदेश के बाद जैविक उर्वरक बेचनेवाली कंपनियों को पंजीकरण कराने के लिए 15 सितंबर तक का समय दिया था। लेकिन किसी भी कंपनी ने पंजीकरण नहीं कराया। ऐसे में अब सरकार को मजबूरन यह फैसला लेना पड़ा है। बता

2. अग्रणी उर्वरक सहकारी संस्‍था इफको ने डाई-अमोनियम फॉस्‍फेट यानि डीएपी की कीमतों में 50 रुपये प्रति बैग कम कर दी है। साथ ही इफको ने अपने कॉम्‍प्‍लेक्‍स उर्वरकों की खुदरा कीमत भी घटाने की बात कही है। इफको के मैनेजिंग डायरेक्‍टर यू.एस. अवस्थी ने इस बारे में मीडिया को बताते हुए कहा कि दुनियाभर में कच्‍चे माल और विनिर्मित उर्वरक की कीमते घटी हैं ऐसे में हमने भी दाम में कटौती करने का फैसला लिया है। इफको की ओर से दामों में की गई इस कटौती के बाद अब डीएपी का नया मूल्‍य 1,200 रुपये प्रति 50 किग्रा बैग होगा, वहीं एनपीके-10 कॉम्‍प्‍लेक्‍स प्रति बैग 1,175 रुपए में किसान खरीद सकेंगे। एनपीके-12 कॉम्‍प्‍लेक्‍स की कीमत भी अब घटकर अब 1,185 रुपए प्रति बैग हो गई है। बता दें कि कुछ ही दिनों में रबि फसल की बुआई शुरू होने को है ऐसे में दामों में हुई इस कटौती का लाभ सीधे तौर पर किसानों को मिल सकेगा।
डबडबार्ई आंखे

3. झारखंड की सरकार ने अपने राज्य के किसानों को बड़ी सौगात दी है। एक सभा के दौरान सूबे के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना के तहत 452 करोड़ रुपये आज किसानों के खाते में डालने की घोषणा कर दी। बता दें कि यह योजना झारखंड की सरकार ने अपने यहां के किसानों के लिए शुरू की है। इससे पहले सरकार ने 10 अगस्त को इसी योजना के तहत 482 करोड़ रुपये 13 लाख 60 हजार किसानों के खाते में डाले थे। वही अब जो राशि सरकार ने भेजी है उसका लाभ 11 लाख 51 हजार 137 किसानों को मिलेगा। इस मौके पर सीएम रघुवर दास ने कहा कि किसान हमारे देश और राज्य की नीव हैं। वर्षो से किसानों को समृद्ध और उन्हें आत्मनिर्भर बनाने की पहल किसी ने नहीं की। यह काम राज्य और केन्द्र की बीजेपी सरकार के सत्ता में आने के बाद ही हुआ है। उन्होंने कहा कि वे नहीं चाहते की उनके राज्य का कोई किसान किसी साहूकार से कर्ज लें। आपको बता दें कि रघुवर सरकार की योजना सूबे के 35 लाख किसानों के खाते में 3 हजार करोड़ रुपये डालने की है। अभी सरकार ने जो राशि भेजी है वो योजना का 50 प्रतिशत है। दिवाली से पहले सरकार दूसरी किस्त की 25% राशि किसानों को दे देगी। वहीं नवंबर-दिसंबर तक बाकी पैसे भी उनके खाते में ट्रांसफर कर दिए जाएंगे

 

खेती-बाड़ी से जुड़ी सभी जानकारियों के लिए नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें-

https://www.youtube.com/user/Greentvindia1/videos

Kisan Bulletin 12th Oct को वीडियो रूप में देखने के लिए नीचे दिए पर क्लिक करें-

https://www.youtube.com/watch?v=TanrTuTdw5E

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *