Grameen News

True Voice Of Rural India

बैंक ऑफ़ बड़ौदा ने लांच किया ‘बड़ौदा किसान, किसानों को मिलेगा फायदा

1 min read
बैंक ऑफ़ बड़ौदा ने लांच किया ‘बड़ौदा किसान’,किसानों को मिलेगा फायदा

बैंक ऑफ़ बड़ौदा ने लांच किया ‘बड़ौदा किसान’,किसानों को मिलेगा फायदा

Sharing is caring!

पिछले दिनों राष्ट्रीय बैंक बैंक ऑफ़ बड़ौदा में विजया और देना बैंकों का विलय किया गया था। इसके बाद बैंक ऑफ़ बड़ौदा देश का तीसरा सबसे बड़ा बैंक बन गया है। बैंक अपने ग्राहकों को और अधिक सुविधाएं देने और ग्रामीण क्षेत्रों में बढ़त बनाने के लिए काम कर रहा है। कुछ माह पहले बैंक ऑफ़ बड़ौदा ने किसानों के लिए एक डिजिटल प्लेटफार्म लॉन्च करने की बात कही थी। उस समय बैंक ऑफ़ बड़ौदा के प्रबंध निदेशक ने कहा था – “कृषि सेवाओं के डिजिटलीकरण का भारतीय अर्थव्यवस्था पर व्यापक प्रभाव पड़ेगा और यह सहयोग कृषि क्षेत्र में प्रौद्योगिकी के उपयोग को ध्यान में रखते हुए एक प्रयास है.” उन्होंने कहा कि किसान भारत का एक अभिन्न अंग हैं, और ‘बड़ौदा किसान’ उनकी विभिन्न जरूरतों को पूरा करने के लिये समर्पित एक मंच है।”

प्याज के दामों में जल्द होगी गिरावट- कृषि मंत्री

बैंक ऑफ़ बड़ौदा ने कहा – एप से किसानों को होगा फायदा

किसानों को डिजिटलीकरण से जोड़ने के लिए बैंक ऑफ़ बड़ौदा की इस पहल को एक सराहनीय कदम के रूप में देखा जा सकता है। इस मौके पर बैंक ऑफ़ बड़ौदा ने एक कार्यक्रम का आयोजन किया जिसमें किसान, ग्रामीणों और सेल्फ हेल्प ग्रुप की महिलाओं ने हिस्सा लिया। इन सब के सामने इस एप को लॉन्च किया गया। इस मौके पर किसान इस प्लेटफॉर्म का उपयोग अपने मोबाईल फोन में भी कर सकते हैं। इस प्लेटफार्म को लेकर बैंक ने एक बयान में कहा है कि “वेब आधारित पोर्टल किसानों की सभी जरूरतों को पूरा करेगा, इसमें फसल चक्र, मौसम का पूर्वानुमान, मिट्टी की नमी का स्तर, बाजार में फसलों की कीमतें और फसल के कीट आदि शामिल हैं।”

इसके अलावा यह उत्पादकों को विभिन्न उत्पादों की खरीद (उदाहरण के लिए – बीज, उर्वरक या कीटनाशक) परामर्श सेवाएं, किराए पर कृषि उपकरण और कृषि उत्पादों की बिक्री के लिए बाजार संपर्क के द्वारा खेती बाड़ी की समस्याओं को सुलझाने का एक समग्र प्लेटफार्म प्रदान करेगा। इस प्लेटफार्म के जरिए कृषि सेवाओं के डिजिटल होने से हमारे देश की अर्थव्यवस्था पर व्यापक प्रभाव पड़ने की उम्मीद है। बड़ौदा किसान की लॉन्चिंग के मौके पर कहा गया कि इस डिजिटल प्लेटफॉर्म के जरिए कृषि संबंधी समस्याओं को हल करने, विश्वसनीय और विशिष्ट जानकारी, उपयोग के लिए इनपुट, कृषि उपकरण किराए पर लेने की सुविधा और कृषि-उत्पाद की बिक्री के लिए बाजार संपर्क के जरिये खेती—बाड़ी की दिक्कतों को सुलझाने का एक समग्र दृष्टिकोण मिलेगा।

बड़ौदा किसान एप 3 भाषाओं हिंदी, अंग्रेजी और गुजराती में उपलब्ध है। किसानों के लिए लॉन्च किए गए इस एप में 7 सहभागी हैं। जिसमें स्काईमेट वेदर, वेटर रिस्क मैनेजमेंट, ईएम 3 एग्री सर्विसेज, पूर्ती एग्रो, बिगहाट, एग्रो स्टार और एग्रीबेगरी है। ये सभी स्टार्टअप ‘बड़ौदा किसान’ के लिए लॉन्चिंग से पहले ही बैंक ऑफ़ बड़ौदा के साथ एमओयू पर हस्ताक्षर कर चुके हैं।

किसानों को मिलेगी सभी सुविधाए

बैंक ऑफ़ बड़ौदा द्वारा लॉन्च किए बड़ौदा किसान के माध्यम से किसानों को कृषि कि तकनिकी और मौसम सम्बन्धी जानकारी से लेकर किराए पर कृषि यन्त्र भी उपलब्ध हो पाएंगे। किसानों को उनकी जरुरत के अनुरूप कृषि सम्बन्धी सभी सेवाएं यहाँ तक की लोन सेवा भी इसके माध्यम से उपलब्ध होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *