Grameen News

True Voice Of Rural India

इफको के विकसित किए तीन नए नैनो फर्टिलाइजर, कम लागत में ज्यादा पैदावार

1 min read
इफको

इफको के विकसित किए तीन नए नैनो फर्टिलाइजर, कम लागत में ज्यादा पैदावार

Sharing is caring!

हाल ही में गुजरात के कलोल में इफको प्लांट की लैब में नैनो नाइट्रोजन, नैनो जिंक और नैनो कॉपर को तैयार किया गया है, जो ना सिर्फ फसलों की पैदावार बढ़ाने में मदद करेगा बल्कि खेतों में इस्तेमाल होने वाले उर्वरकों की मात्रा में भी कमी लाएगा. एक जानकारी के अनुसार, इफको द्वारा तैयार किए गए तीनों उत्पादों से मिट्टी, किसान और पर्यावरण को फायदा मिलेगा।

साथ ही परंपरागत उर्वरकों की खपत में भी 50 फीसदी तक की कमी आएगी. इतना ही नहीं, खेती की लागत में भी कमी आएगी.. खबरों की मानें तो इफको ने भारत में पहला ऐसा नैनो नाइट्रोजन तैयार किया है, जिसे यूरिया की जगह पर इस्तेमाल की जा सकता है, इसका सही तरीके से इस्तेमाल उर्वरक की खपत को 50 प्रतिशत तक कम कर सकता है।

तो वहीं, दूसरी तरफ नैनो जिंक का इस्तेमाल करने पर जिंक की पूरी मात्रा पौधों को मिलेगी. इससे पौधों में जिंक ग्रहण करने की क्षमता का विकास होगा. जबकि, तीसरा उत्पाद नैनो कॉपर से पौधे को पोषण और सुरक्षा, दोनों में मदद मिलेगी। इसे कवकनाशी के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है। यह ना सिर्फ पौधों को नुकसान पहुंचाने वाले कीटों से लड़ने की ताकत पैदा करता है।

बल्कि इससे पौधे में ग्रोथ हारमोन तेजी से बढ़ते हैं और पौधा भी तेजी से विकास करता है. इसके अलावा इफको के चीफ फील्ड मैनेजर की मानें तो इन नैनो उत्पादों के पूरे देश में 11,000 ट्रायल किए गए हैं. ये सभी ट्रायल ICAR और कृषि विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिकों एवं इफको के कृषि वैज्ञानिकों की निगरानी में किए गए हैं।

वैज्ञानिकों ने खुद माना है कि नैनो उत्पादों के इस्तेमाल से फसलों की पैदावार में 6 से लेकर 20 फीसदी तक का इजाफा हुआ है। तो वहीं बात अगर कीमत की करें, तो नैनो नाइट्रोजन की आधा लीटर की बोतल की कीमत लगभग 240 रुपये होगी.

Inspiring And Positive Stories के लिए नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें-

http://hindi.theindianness.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *