Grameen News

True Voice Of Rural India

History of 23rd March- 1931 में भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव को फांसी

1 min read
History of 24th March

History of 19th March- आज ही के दिन हुआ था दुनिया का पहला टेस्ट मैच

Sharing is caring!

History of 23rd March-

  1. भगत सिंह, उनके साथी राजगुरु और सुखदेव को फांसी दिया जाना भारत के इतिहास में दर्ज सबसे बड़ी और महत्वपूर्ण घटनाओं में से एक है। साल 1931 में भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान क्रांतिकारी भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव को आज ही के दिन फांसी दी गई थी। 23 मार्च को शहीद दिवस के रूप में भी जाना जाता है।

  2. 1880 में आज ही के दिन भारतीय स्वतंत्रता कार्यकर्ता बसंती देवी का जन्म हुआ। बसंती देवी भारत में ब्रिटिश शासन के दौरान एक भारतीय स्वतंत्रता कार्यकर्ता थी। वो अन्य कार्यकर्ता चित्तरंजन दास की पत्नी थीं। 1921 में दास की गिरफ्तारी और 1925 में मृत्यु के बाद, उन्होंने कई आंदोलनों में सक्रिय भूमिका निभाई और स्वतंत्रता के बाद सामाजिक कार्य जारी रखा। जिसके बाद 1973 में उन्हें भारत सरकार ने पद्म विभूषण सम्मान से सम्मानित किया।
  3. 1996 में आज ही के दिन ताइवान में पहली बार प्रत्यक्ष राष्ट्रपति चुनाव हुआ था। जिसमें ली तेंग हुई को राष्ट्रपति पद के लिए चुना गया था।
  4. 1956 में आज ही के दिन पाकिस्तान दुनिया का पहला इस्लामिक गणतंत्र बना था.. इस दिन को पाकिस्तान में पाकिस्तान दिवस के रूप में मनाया जाता हैं..आपको बता दें कि, इस दिवस को लाहौर संकल्प और पाकिस्तान में पहले संविधान के पारित होने के उपलक्ष्य में मनाया जाता है। आज के दिन हर साल पूरे पाकिस्तान में आम छुट्टी होती है।
  5. 1976 में आज ही के दिन कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी का जन्म नई दिल्ली में हुआ था. स्मृति इरानी टेलीविजन के मशहूर धारावाहिक, क्योंकि सास भी कभी बहू थी, में मुख्य किरदार निभा चुकी हैं। स्मृति ने साल 2003 में बीजेपी ज्वाइन की थी।
  6. 1986 में आज ही के दिन केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल में महिलाओं की पहली कंपनी को प्रशिक्षित किया गया। आपको बता दें कि, आजादी के बाद 28 दिसम्बरर, 1949 को संसद के एक अधिनियम द्वारा इस बल का नाम केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल दिया गया था। तत्कादलीन गृह मंत्री सरदार बल्लिभ भाई पटेल ने नव स्वपतंत्र राष्ट्रि की बदलती जरूरतों के अनुसार इस बल के लिए एक बहु आयामी भूमिका की कल्परना की थी।
  7. 1987 में पश्चिमी जर्मनी के एक ब्रितानी सैनिक ठिकाने पर काम में बम धमाका हुआ था.. इस धमाके में 31 लोग घायल हो गए थे.. विस्फोट इतना भयानक था कि सड़क पूरी तरह ध्वस्त हो गई और पास में खड़ी कारों को काफ़ी बुरी तरह नुक़सान पहुँचा था।

Grameen News के खबरों को Video रूप मे देखने के लिए ग्रामीण न्यूज़ के YouTube Channel को Subscribe करना ना भूले  ::

https://www.youtube.com/channel/UCPoP0VzRh0g50ZqDMGqv7OQ

Kisan और खेती से जुड़ी हर खबर देखने के लिए Green TV India को Subscribe करना ना भूले ::

https://www.youtube.com/user/Greentvindia1

Green TV India की Website Visit करें :: http://www.greentvindia.com/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *