Grameen News

True Voice Of Rural India

History of 09th Dec – आज ही हुई थी संविधान सभा की पहली बैठक

1 min read
संविधान

संविधान

Sharing is caring!

आज 09 दिसंबर का दिन है। आज के दिन के इतिहास के बारे में बात करें तो बीते हुए सालों में कई सारी ऐसी घटनाएं हुई हैं जो ऐतिहासिक रुप से महत्व रखती हैं। इन घटनाओं में से भी कुछ ऐसी महत्वपूर्ण घटनाएं हैं जो आज के भी हमारे बीच कुछ ऐतिहासिक कारणों की वजह से याद किए जाते हैं। जैसे कि साल 1946..। साल 1946 में आज ही के दिन देश का सर्वोच्‍च कानून यानि की हमारा संविधान बनाने वाली संविधान सभा की पहली मुलाकात हुई थी। इस सभा के मेंबरों को भारत का संविधान लिखने के लिए चुना गया था। संविधान सभा को लेकर सबसे पहला आइडिया 1934 में एम.एन. रॉय की ओर से रखा गया था। वहीं 1935 आते आते यह भारतीय नेशनल कांग्रेस की ओर से मुख्य मांगों में शामिल हो गया। फिर 1939 में सी. राजगोपालाचारी ने यूनिवर्सल एडल्ट फ्रेंनचाइज बेस्ड संविधान सभा भी मांग को तेज किया जिसे अंग्रेजों की ओर से साल 1940 में मान लिया गया।

History of 08th Dec – आज है बॉलिवुड के दिग्गज अभिनेता धर्मेंद्र का जन्मदिन

अगस्त ऑफर में थी संविधान बनाने की बात

साल 1940 में अंग्रेजों की ओर से गवर्नर जेनरल एक्जीक्यूटीव काउंसिल के एक्सपेंसन और वॉर एडवाइजरी काउंसिल का प्रस्ताव रखा। इसे अगस्त आॅफर के नाम से इतिहास के पन्नों में दर्ज किया गया है। इसी के अंदर भारतीयों को अपना संविधान बनाने की अजादी देने की बात कही गई। फिर साल 1946 में कैबिनेट मिशन प्लान के जरिए पहली बार संविधान सभा को लेकर चुनाव हुए। यह चुनाव 398 सीटों पर हुए, जिसमे से 292 सीटे ब्रिटिश राज्य के अंदर आते थे। अगस्त 1946 तक 296 सीटों को लेकर फिर चुनाव हुए जिसमें से 208 सीटें कांग्रेस के खाते में आईं और मुस्लिम लीग को 73 सीटें मिलीं। मुस्लिम लीग ने इसे मानने से इंकार कर दिया। लेकिन कांग्रेस उस समय अपने आप में कई तरह के विचारों का एक संगठन था, जिसें सेक्यूलर से लेकर रेडिकल हिन्दू से लेकर रेडिकल इस्लामिक और रेडिकल मार्कसिस्ट भी थे।

ऐसे में पहली बार 9 दिसंबर 1946 में पहली बार संविधान सभा की बैठक हुई। आज के दिन ही सुबह 9 बजे सभा ने अपने पहले सेशन का काम शुरू किया। इसमें 207 मेंबरों ने हिस्सा लिया था। बात में आगे चलकर मुस्लिम लीग और प्रिंसली स्टेट के मेंबरों ने भी इस सभा को ज्वाइन किया और 26 नवंबर 1949 को संविधान बनाने का काम पूरा हुआ। इस सभा का लास्ट सेशन 24 जनवरी 1950 को हुआ और 26 जनवरी को भारत का संविधान लागू हुआ।

संविधान सभा की पहली मीट के अलावा और भी कई बड़ी घटनाएं हुईं। जैसे कि साल

— साल 1946 में आज ही के दिन यूपीए की चेयरपर्सन और पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की पत्नी सोनिया गांधी का जन्‍म हुआ था। उनका जन्म इटली के वेनेटों के विकेंजा से 35 किमी दूर लूसियाना में हुआ था। साल 1964 में सोनिया गांधी अंग्रेजी पढ़ने के लिए कैंब्रिज गई थीं जहां उनकी मुलाकात राजीव गांधी से हुई। दोनों की शादी 1968 में हुई थी। राजीव गांधी की हत्या के बाद सोनिया गांधी ने कांग्रस पार्टी की कमान 1998 में अपने हाथ मे ली। इसके बाद कांग्रेस पार्टी 2004 ओर 2008 में चुनाव जीती लेकिन दोनो ही बार सोनिया ने प्रधानमंत्री बनने से इंकार कर दिया।

— साल 1971 में आज ही के दिन लिबरेशन वॉर के दौरान भारतीय सेना ने हवाई अभियान मेघना हेली ब्रिज छेड़ा था। यह भारतीय और बांग्लादेशी सहयोगी सेनाओं का हवाई अभियान था। इस दौरान भारतीय वायु सेना ने मुक्तिवाहिनी और भारतीय सेना की IV कॉप को एयरलिफट करते हुए मेघना नदी के ऊपर नरसिंग्डी में ब्रह्मबहिरिया से रायपुरा की ओर बमबारी की। इसी दौरान सेना ने आशूगंज में मेघना पुल और पाकिस्तानी ठिकानों को भी तबाह कर दिया।

— साल 1992 में आज ही के दिन ब्रिटेन के शाही जोड़े प्रिंस चार्ल्स और प्रिंसेज डायना के अलग होने की आधिकारिक घोषणा सामने आई थी। बताया जाता है कि प्रिंस चार्ल्स और केमिला पार्कर के बीच के नाजायज रिश्ते के कारण इस दोनों शाही जोड़े के बीच अनबन हुई और रिश्ता टूट गया।

— साल 2001 में आज ही के दिन तालिबान में नार्दन एलायंस का विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया। इस हादसे में 21 लोगों की मौत हो गई थी। उस समय नार्दन अलाएंस और तालिबान के बीच युद्ध छिड़ा हुआ था।

— साल 2001 में आज ही के दिन तालिबान में नार्दन एलायंस का विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया। इस हादसे में 21 लोगों की मौत हो गई थी। उस समय नार्दन अलाएंस और तालिबान के बीच युद्ध छिड़ा हुआ था।

— आज के दिन ही दक्षिण कोरिया पर से डेवलपिंग नेशन का टैग हटा था ओर यह देश दुनिया के डेवलप्ड नेशन्स की कैटोगरी में शामिल हो गया। दक्षिण कोरिया एशिया का चौथा और दुनिया का 11 सबसे बड़ा देश है जो कभी दुनिया के सबसे गरीब देशों में गिना जाता था। लेकिन इस देश ने इतनी तेजी से विकास किया की यह सीधे डेवलप्ड देशों की लाइन में आ खड़ा हुआ। दुनिया के कई देश यहां हुए इस बदलाव को चमत्कार मानते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *