बिना जान की परवाह किया हाईजैकर से मिलने पहुंचे अटल जी

अटल जी

देश के सबसे लोकप्रिय नेताओं में से एक अटल जी के जीवन के कई ऐसे दिलचस्प किस्से हैं जो उनके किसी न किसी साथी से सुनने को मिल जाते हैं। अटलजी के खास मित्र लालजी टंडन ने उनके ऐसे ही एक खास किस्से का जिक्र किया। तो आइए आज हम आपको ऐसे ही किस्से से रूबरू करवाते हैं।

बीजेपी नेता लालजी टंडन ने कहा,  मुझे एक आदमी भी ऐसा नहीं मिला जिसने यह कहा हो कि मैं अटलजी के पास गया और उनसे मिल नहीं सका। वह लोगों से मुलाकात के प्रति कितने संवेदनशील थे, इसका एक शानदार उदाहरण लखनऊ में देखने को मिला था। लालजी टंडन ने एक वाकया बताया। उन दिनों देश में राम जन्मभूमि आंदोलन का दौर चल रहा था और अटलजी लखनऊ के सांसद हुआ करते थे।’

वाजपेयी जी जब भी लखनऊ में अपने प्रवास के लिए आते तो मीराबाई रोड के गेस्ट हाउस में रुका करते थे। ऐसे ही एक प्रवास के आखिरी दिन अटलजी मीराबाई रोड के गेस्ट हाउस में बैठे रात का खाना खा रहे थे। इसी बीच लखनऊ के तत्कालीन डीएम और राज्यपाल मोतीलाल वोरा के सलाहकार घबराए हुए गेस्ट हाउस पहुंचे।

डीएम ने बड़ी घबराहट में लालजी टंडन से कहा कि उन्हें अटलजी से मिलना है। इस पर बीजेपी नेताओं ने कहा कि अटलजी भोजन कर लें तो मुलाकात हो जाएगी, लेकिन वे बोले कि तुरंत ही मिलना है और अटलजी के कमरे का दरवाजा खोलकर अंदर चले गए। अचानक पहुंचे डीएम को देखकर अटल जी ने पूछा, ‘कैसे आए डीएम साहब, कुछ विशेष।’

डीएम ने अटल जी से कहा कि अमौसी एयरपोर्ट पर एक युवक ने एक विमान हाईजैक कर लिया है और उसके हाथ में कोई बम जैसी चीज है। प्लेन हाईजैकर ने विमान को उड़ाने की धमकी दी है लेकिन यह भी कहा है कि अगर अटल बिहारी वाजपेयी आ जाएं तो मैं सभी यात्रियों को छोड़ दूंगा, इसलिए अगर आप हमारे साथ चलें तो शायद सभी की जान बच जाए।

डीएम की बात सुनकर तुरंत लालजी टंडन बोले कि आपको अटल जी की सुरक्षा की परवाह नहीं है? हालांकि डीएम कुछ जवाब दे पाते इससे पहले ही पूर्व अटलजी ने खाना छोड़ा और डीएम के साथ चलने की हामी भर दी। बीजेपी नेताओं ने मना भी किया लेकिन अटलजी नहीं माने। अटलजी और सभी बीजेपी नेता डीएम और राज्यपाल के सलाहकार के साथ एयरपोर्ट के एक टॉवर पर पहुंचे। वहां से विमान में संपर्क हुआ तो अटल जी ने हाईजैक करने वाले युवक से बात शुरू की।

हाईजैकर ने अटलजी की आवाज सुनी और कहा कि आप अटल बिहारी वाजपेयी नहीं हैं। फिर एक निजी कार में अटल जी, लालजी टंडन, राज्यपाल के सलाहकार और जिलाधिकारी चारों लोग विमान तक पहुंचे जो एयरपोर्ट के किनारे पर खड़ा था। प्लेन के नीचे पहुंचकर लालजी टंडन ने युवक से अपना परिचय दिया तो उसने उन्हें पहचानने की बात कही। लालजी टंडन पहुंचे और फिर युवक से बात कर अटलजी को विमान में बुलाया।

अटलजी पहुंचे तो लालजी टंडन ने कहा कि वाजपेयीजी इतनी दूर से तुमसे मिलने आए हैं, इनका पैर तो छू लो। इतना कहते ही युवक अटलजी का पैर छूने को जैसे ही झुका, तुरंत वहां मौजूद एक पुलिस अधिकारी ने जकड़ लिया। तभी युवक ने कहा कि मेरे पास कोई बम नहीं है ये तो सुतली का गुच्छा है। युवक बोला मैं तो सिर्फ इन्हें यह बताना चाहता था कि देश में राम जन्मभूमि आंदोलन को लेकर कितना आक्रोश है। तो यह था अटल जी से जुड़ा दिलचस्प किस्सा…

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password