पहली बार कुंभ में हुई किन्नर अखाड़ों की पेशवाई, निकली भव्य रथ यात्रा

पहली बार कुंभ में हुई किन्नर अखाड़ों की पेशवाई, निकली रथ भव्य रथ यात्रा प्रयागराज में होने जा रहे विश्व के सबसे बड़े आध्यात्मिक समागम यानी कुम्भ के लिए पहली बार किन्नर अखाड़ा पहुंचा। पहली बार प्रयागराज में किन्नर अखाड़े की धूमधाम से यात्रा निकाली गई। इस दौरान किन्नर साधु संतों का दर्शन करने के लिए लाखों की तादाद में लोग वहां पहुंचे। 
पहली बार कुंभ में हुई किन्नर अखाड़ों की पेशवाई, निकली रथ भव्य रथ यात्रा प्रयागराज में होने जा रहे विश्व के सबसे बड़े आध्यात्मिक समागम यानी कुम्भ के लिए पहली बार किन्नर अखाड़ा पहुंचा। पहली बार प्रयागराज में किन्नर अखाड़े की धूमधाम से यात्रा निकाली गई। इस दौरान किन्नर साधु संतों का दर्शन करने के लिए लाखों की तादाद में लोग वहां पहुंचे।

इस देवत्व यात्रा की खास बात ये रही कि इसमें किन्नर संत घोड़ों और बग्घियों पर सवार थे, जबकि बाकी अखाड़ों की यात्रा में ट्रैक्टर ट्रॉली पर रखे सोने-चांदी के हौदों पर साधु-संत विराजमान थे। किन्नर अखाड़े की इस देवत्व यात्रा में सबसे आगे आठ बग्घियों पर अखाड़े के संत विराजमान थे और इसके पीछे अखाड़े की महामंडलेश्वर लक्ष्मी नारायण त्रिपाठी ऊंट पर सवार थीं और लोगों को आशीर्वाद दे रही थीं।

इनके पीछे एक वाहन में अखाड़े के आराध्य देवता महाकालेश्वर विराजमान थे। देवत्व यात्रा में आराध्य देवता के पीछे बाजे-गाजे और झांकियों के साथ बग्घियों पर किन्नर साधु संत सवार थे और लोगों को आशीर्वाद दे रहे थे। किन्नर संतों ने सुंदर साड़ियां पहन रखी थीं और खूब श्रृंगार कर रखा था जिससे उनकी यह यात्रा एक अलग ही छठा बिखेर रही थी।
इस देवत्व यात्रा में 25 से अधिक बग्घियां थीं। हालांकि सबसे दुःख की बात ये है कि एक तरफ़ जहां समाज में महिलाओं और पुरुषों की तरह ख़ुद को समाज की मुख्य धारा से जोड़ने की कोशिशे कर रहे हैं तो वहीं आज भी समाज उन्हें पूरी तरह से स्वीकार नहीं कर पा रहे हैं। क्योंकि अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने किन्नर अखाड़ा को मान्यता नहीं दी है। लेकिन बावज़ूद इसके किन्नर अखाड़े के महामंडलेश्वर लक्ष्मी नारायण त्रिपाठी ने बीच नगर में देवत्व यात्रा निकाली। अखाड़ा परिषद् ने चाहे इसे मान्यता दी हो या नहीं मगर प्रयागराज में पहली बार निकली किन्नरों की इस यात्रा को सबने खूब पसंद किया।

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password