अगरबत्ती जलाने से भगवान खुश नहीं होते, बल्कि कैंसर होता है

अगरबत्ती
सोचिए कि आप भगवान की पूजा कर घर में अगरवत्ती जलाएं कि आपकी ज़िंदगी में सबकुछ अच्छा हो घर में सकारात्मकता आए लेकिन अगरबत्ती आपको एक गंभीर बीमारी दे जाए तो। जी हां, अगरबत्ती जलाने से कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी हो सकती है। वही अगरबत्ती जिसे आप अपने घर में हर रोज़ जलाते हैं। सिर्फ अगरबत्ती ही क्यों बल्कि हाल ही की एक रिसर्च में खुलासा हुआ है कि रोजमर्रा में इस्तेमाल होने वाली कई चीजें ऐसी हैं जिनकी वजह से कैंसर होता है। तेजी से बदलते दौर में तमाम सुख सुविधाओं की चीजों में एकदम से इज़ाफ़ा हुआ है। हमारी ज़िंदगी को और आसान बनाने के लिए हर रोज़ नए नए आविष्कार होते रहते हैं। इनमें से ज़्यादातर चीजें खतरनाक केमिकल से बनती है। हमारे आस पास केमिकल से बनी इतनी चीजें फ़ैल चुकी हैं कि जाने अनजाने में हम इनका इस्तेमाल कर ही लेते हैं और ये हमारे शरीर को धीरे धीरे प्रभावित कर ही लेते हैं और एक दिन ये हमारे सामने बड़ी बीमारी के रूप में आकर खड़ाE हो जाता है।
ऐसी कई चीजें होती हैं जिन्हे बनाने के लिए केमिकल का इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन हमें पता नहीं होता और हम उसका इस्तेमाल करते रहते हैं। इसी वजह से कैंसर जैसी गंभीर बीमारी भी अपने पैर पसारती जा रही है। मगर लाइफस्टाइल में आसान बदलावों से लगभग 40 प्रतिशत कैंसर से होने वाली मौतों को रोका जा सकता है। इस बीमारी के आठ बड़े कारणों में तंबाकू का धुआं, खराब डाइट, शराब, ज्यादा वजन या मोटापा, इंएक्टिविटी, इंफेक्शन और हार्मोन संबंधी कारण शामिल हैं। कैंसर हमेशा जेनेटिक नहीं होता है, खराब लाइफ स्टाइल के कारण ही ये बीमारी हो सकती है। अगर आप अपनी रोजमर्रा की जिंदगी में कुछ बातों का ध्यान रखेंगे तो इस बीमारी से बचा सकता है

अगर आप अपने ऑफिस, अस्पताल या फिर शादी-पार्टियों में प्लास्टिक या पेपर कप में चाय-कॉफी पीते हैं तो आज ही से इसे बंद कर दें।  भले ही बाजार में प्लास्टिक, थर्माकोल, पेपर कप्स लोकप्रिय हों लेकिन ये डिस्पोजल कप स्वास्थ्य के लिए खतरा है। ये 52 तरह के कैंसर का कारण बन सकते हैं। अगर कोई प्लास्टिक कप को नुकसानदायक मानकर पेपर कप में पीना शुरू कर रहा है तो उन्हें भी फिर सोचने की जरूरत है क्योंकि ये पेपर कप भी कम खतरनाक नहीं है।

इन कपों को इस्तेमाल आजकल बहुत बढ़ चुका है अब ये हर चाय वाले के पास और आजकल दावतों में भी दिखते हैं। Styrofoam से बने प्रोडेक्ट्स इतने आम हो चुके हैं कि लोग हर तरह की खाने- पाने की चीज के लिए इसी का इस्तेमाल कर रहे हैं। पर ये सोफ्ट प्लास्टिक से बना कप दिखने में अच्छा भले लगे पर आपके स्वास्थ के लिए बहुत ही खतरनाक है। ये एक पोलिमर है। ये खतरनाक केमिकल जब गर्म चीज जैसे गर्म पानी और चाय या कॅाफी से मिलता है तो एक Reaction करता है जिसके कारण हमारे शरीर पर बहुत बुरे प्रभाव पड़ते हैं।

अगरबत्ती बिना पूजा-पाठ और कोई भी धार्मिक अनुष्ठानों के बारे में सोचा भी नहीं जा सकता है। लेकिन इसके लिए प्रयोग होने वाली अगरबत्ती भी कैंसर के लिए जिम्मेदार मानी गई है। वैज्ञानिकों द्वारा किये गये शोध की रिपोर्ट के अनुसार अगरबत्ती को जलाने पर उसके धुएं के साथ कुछ बारीक कण भी निकलते हैं जो कि हवा में घुल-मिल जाते हैं। अगरबत्तियों से निकलने वाले जहरीले कण शरीर की कोशिकाओं को बेहद प्रभावित करते हैं। शोध के दौरान रिपोर्ट में पता चला कि अगरबत्ती के धुएं में तीन तरह से विशेष तत्व होते हैं जो कि कैंसर के लिए जिम्मेदार होते हैं। YE विषैले तत्व म्यूटाजेनिक, जीनोटॉक्सिक और साइटोटॉक्सिक के नाम से जाने जाते हैं। जेनेटिक म्यूटेशन से व्यक्ति के डीएनए में परिवर्तन TAK हो सकता है जो कि एक अच्छा संकेत नहीं है। यह हमारे फेफड़ों में जलन, उत्तेजना और विभिन्न तरह की विकृतियां पैदा कर देता है। अगरबत्ती के धुएं से सांस के रास्ते की नली में खुजली और जलन की समस्या भी हो सकती है।
मच्छरों को भगाने के लिए लोग मच्छर मारने वाली दवाईयां यूज करते हैं। लेकिन ये जिस तरह ये दवाईयां या कॉइल्स मच्छरों को मारने के लिए बनाई जाती हैं तो उनमें बहुत से केमिकल मिलाए जाते हैं। इसके धुएं में सुंगध भी होती है जो कि केमिकल्स से ही डाली जाती है। ये कॉइल्स शायद ही कभी मच्छरों को दूर कर सके लेकिन इनके धुएं के कई खतरनाक प्रभाव देखने के मिलते हैं। सिरदर्द और एलर्जी तो आम लक्षण हैं लेकिन इसके ज्यादा इस्तेमाल से आपको कैंसर भी हो सकता है। ये तो बस तीन चीजें हैं जिनके बारे में हमने आपको बताया है मगर ऐसी कई चीजें है जो आप और हम हर दिन इस्तेमाल करते हैं। और हमे पता तक नहीं चलता कि वो चीजें कितनी खतरनाक हैं। इसलिए अब से आप ये जरूर ध्यान दें कि आप किन चीजों का इस्तेमालं कर रहे हैं और उनसे आपको कोई नुक्सान तो नहीं हो रहा है।

Grameen News के खबरों को Video रूप मे देखने के लिए ग्रामीण न्यूज़ के YouTube Channel को Subscribe करना ना भूले  ::

https://www.youtube.com/channel/UCPoP0VzRh0g50ZqDMGqv7OQ

Kisan और खेती से जुड़ी हर खबर देखने के लिए Green TV India को Subscribe करना ना भूले ::

https://www.youtube.com/user/Greentvindia1

Green TV India की Website Visit करें :: http://www.greentvindia.com/

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password