बदहाल अस्पताल में महिलाओं को ईंट और टूटे टेबल रख कर ख़ुद ही बनाना पड़ा बाथरूम

देश में यूँ तो कई बड़े अस्पताल हैं मगर कुछ अस्पताल ऐसे भी हैं जो बदहाली के आंसू बहा रहे हैं। इन अस्पतालों में मूलभूत सुविधाएं तक नहीं है। उन्ही बदहाल अस्पतालों में से एक है जमशेदपुर का एमजीएम अस्पताल। इस अस्पताल में मरीजों के साथ दिनभर में सैंकड़ों महिलाएं आती हैं। मगर हैरानी की बात तो ये है कि इस अस्पताल में एक बाथरूम तक नहीं है। दिनभर अस्पताल में रहने वाली महिलाओं को बाथरूम जाने की जरुरत पड़ती है मगर किसी पर इसका ध्यान नहीं गया।

महिलाएं इस वजह से खुले में नहाने को विवश थी। आखिरकार थक हार कर महिलाओं ने महिलाओं ने खुद रास्ता निकाल लिया। टूटे टेबल और ईंट से घेरकर इन महिलाओं ने यहाँ बाथरूम बना लिया। अब मरीजों के साथ अस्पताल आने वाली महिलाएं इसी बाथरूम का इस्तेमाल करती हैं। इन सभी महिलाअों का कहना है कि कोल्हान के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल में मरीजों के परिजनाें के लिए एक बाथरूम तक नहीं है। एक तरफ देश इतनी तरक्की कर रहा है वहीं दूसरी तरफ़ इन महिलाओं को मूलभूत सुविधाएं तक मुहैय्या नहीं हो पा रही है। अब सवाल ये है कि आख़िर प्रशासन कब इस और ध्यान देगा।

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password