क्या आप जानते हैं ! राजस्थान में है एशिया की सबसे बड़ी भूमिगत कॉपर खदान

ये बात शायद हर कोई ना जानता हो मगर आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि एशिया में कॉपर की पहली भूमिगत खदान राजस्थान के झुंझुंनू में है। ये जगह झुंझुनू के खेतड़ी कस्बे में खेतड़ी कॉपर की 370 मीटर जमीन के अंदर है। इस सुरंग में 200 टनल है। यह खदान एशिया की पहली भूमिगत खदान है। एक ऐसा वक्त था, जब इस खदान में 10 हजार मजदूर काम करते थे। देश का सबसे ज्यादा कॉपर का खनन इसी खदान से होता है। इसमें साल 1962 में खनन का काम शुरू हुआ था और आज भी खनन हो रहा है। हर साल 11 लाख टन कच्चा माल निकाला जाता है।

इस खदान से तांबा निकालने के लिए पटरियां बिछाई गई हैं। इस खदान का जो मुख्य टनल है, वो करीब 10 किलोमीटर में फैला है। अगर सभी सुरंगों को मिला दिया जाए तो करीब 200 किलोमीटर से ज्यादा का क्षेत्रफल होगा। साल 1987 में दस हजार मजदूर काम करते थे, लेकिन अब 2200 कर्मचारी रह गए हैं। इसमें 24 घंटे काम चलता रहता है। हर शिफ्ट में 50 से 70 मजदूर काम करते हैं।

इस खदान में इतनी बड़ी लिफ्ट लगी है कि उसमें एक साथ 84 लोग नीचे जा सकते हैं। इस खदान में 75 साल तक खनन किया जा सकता है। जिसमें से 50 साल खनन हो चुका है। अभी 25 साल तक और खनन किया जा सकता है। उसके बाद इसको बंद करना पड़ेगा।

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password