कलाकार को है अभिव्यक्ति की आजादी: सुप्रीम कोर्ट

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर बनी फिल्म ‘An Insignificant Man’ के रिलीज पर उच्चतम न्यायालय ने रोक लगाने से इनकार कर दिया है. मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली 3 सदस्यीय पीठ ने फिल्म की रीलिज पर रोक लगाने की याचिका को खारिज करते हुये कहा की फिल्म, नाटक,उपन्यास,किताब एक सृजनात्मक कला है इसलिए इन सब पर अदालते सोच समझ कर ही रोक लगाए. कोर्ट ने ये भी कहा की अभिव्यक्ति की आजादी सर्वोपरि है, कलाकार को भी अभिव्यक्ति की आजादी है और वो उसे कानून में मंजूर तरीके से व्यक्त कर सकता है. अभिव्यक्ति दर्शक के विचार को झकझोरने वाली हो सकती है लेकिन इस पर नियंत्रण सिर्फ कानून मे दी विधि से ही किया जा सकता है. अदालत को ऐसे मामलों में बहुत कम रोक लगानी चाहिए.

फिल्म पर रोक की याचिका नचिकेता वालहेकर ने दायर की थी. नचिकेता वही व्यक्ति है जिसने 2013 में अरविद केजरीवाल पर स्याही फेकी थी. सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के साथी ही केजरीवाल की लाइफ पर बनी ये फिल्म ‘An Insignificant Man’ आज पूरे देश में रिलीज हो गयी है.

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password