सुप्रीम कोर्ट का आदेश : सिनेमाघरों में राष्ट्रगान बजाना अब जरूरी नहीं

अभी तक आपने सिनेमाघरों में फिल्म शुरू होने से पहले राष्ट्रगान चलते हुए और लोगों को खड़े होते हुए देखा ही होगा। मगर अब सुप्रीम कोर्ट सुप्रीम कोर्ट ने सिनेमाघरों में फिल्म दिखाए जाने से पहले राष्ट्रगान बजाने की अनिवार्यता को खत्म कर दिया है। मतलब ये कि अब फिल्म से पहले राष्ट्रगान बजाना या न बजाना सिनेमाघरों के मालिकों की मर्जी पर ही निर्भर होगा।

गौरतलब केंद्र सरकार ने कोर्ट से कहा था कि अदालत को अपने आदेश में बदलाव करना चाहिए। जिसके बाद ही सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले पर सुनवाई करते हुए सरकार के हलफनामे को स्वीकार कर लिया। वहीं सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि सिनेमाघरों में राष्ट्रगान बजाने संबंधी अंतिम फैसला अब केंद्र द्वारा गठित कमिटी लेगी।

आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने नवंबर 2016 में दिए अपने आदेश में कहा था कि सिनेमा हॉल में फिल्म शुरू होने से पहले राष्ट्रगान बजाया जाएगा और लोग खड़े होंगे। कोर्ट ने कहा था कि इस दौरान स्क्रीन पर राष्ट्र-ध्वज दिखाया जाएगा। केंद्र ने भी इस फैसले का समर्थन किया था। मगर राष्ट्रगान पर सुप्रीम कोर्ट के आदेश और केंद्र के रवैये पर कई लोगों द्वारा सवाल उठाए गए थे। इस पर लोग अपनी अलग अलग प्रतिक्रिया देते नजर आए कुछ लोग इस फैसले से खुश थे तो वहीं कुछ लोगों का ये भी कहना था कि लोग मनोरंजन के लिए फिल्म देखने जाते हैं, वहां उनपर इस तरह देशभक्ति थोपी नहीं जानी चाहिए।

 

 

 

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password