तो क्या घोड़ा रखने की वजह से की गई दलित युवक और उसके घोड़े की हत्या ?

पिछले कुछ दिनों से देश में साम्प्रादायिक माहौल बिगड़ता ही जा रहा है। कहीं रामनवमी पर जुलूस निकालने की वजह से हिंसा फैली तो कहीं भीम राव आंबेडकर की मूर्ती तोड़ी गई वहीं अब फिर ऐसा मामला सामने आया है जहां एक दलित युवक की हत्या कर दी गई जिसके बाद से ही सांप्रदायिक तनाव फ़ैल गया है। दरअसल गुजरात के भावनगर जिले के टिंबी गांव में कुछ ऊंची जाति के लोगों ने घोड़ा रखने और घुड़सवारी करने पर खुंदक खाकर एक दलित की हत्या ही कर दी। युवक का कसूर बस इतना था कि उसके पास एक घोड़ा था और वो एक बहतरीन घुड़सवार था। गुजरात के भावनगर में ऊंची जाति बाहुल्य इलाके में उसने घोड़ा रख लिया था। इसे नाक की लड़ाई मानते हुए ऊंची जाति के लोगों ने ना केवल उस दलित की हत्या कर दी बल्कि उसके घोड़े को भी मार डाला।

घटना के बाद से ही पूरे क्षेत्र में तनाव व्याप्त है। पुलिस ने मामले में पास के गांव से ही तीन संदिग्धों को गिरफ्तार कर लिया है। आगे की जांच के लिए भावनगर अपराध शाखा से मदद मांगी गई है।

 

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password