काला हिरन केस में हुई सलमान खान को सजा,जानें इस पूरे मामले में कब क्या-क्या हुआ।

बीस साल पुराने काला हिरण शिकार मामले में गुरुवार को जोधपुर की चीफ ज्युडिशियल मजिस्ट्रेट (सीजेएम) की कोर्ट ने सलमान खान को दोषी करार दिया। सीजेएम देव कुमार खत्री ने सलमान को 5 साल कैद की सजा सुनाई और 10 हजार रुपए का जुर्माना लगाया। अभिनेता सलमान खान को वाइल्ड लाइफ प्रोटेक्शन एक्ट के तहत दोषी करार दिया गया है। सलमान को जोधपुर जेल भेजा गया। वे चौथी बार जोधपुर जेल गए हैं। इससे पहले 1998, 2006 और 2007 में सलमान कुल 18 दिन जेल में रहे थे। इस केस में सह आरोपी सैफ अली खान, तब्बू, सोनाली बेंद्रे और नीलम कोठारी बरी हो गए। सलमान खान को जोधुपर सेंट्रल जेल ले जाया गया है. सलमान खान इस केस में इसलिए नहीं बच पाए क्योंकि हिरण शिकार के चारों केस में सबसे मजबूत ये मामला था।

यह केस सबसे पुख्ता था, क्योंकि 1 अक्टूबर 1998 की रात जब इन बॉलीवुड स्टार्स ने कांकाणी में संरक्षित वन्य प्राणी दो काले हिरणों का शिकार किया था तो ग्रामीणों ने गोली की आवाज सुनकर उनका पीछा भी किया था। ग्रामीणों ने उन्हें मौके पर देखा था और हिरणों के शव भी वन विभाग को सुपुर्द किए थे। इस मामले में सलमान गोली चलाने के आरोपी बनाए गए।

शिकार से जुड़े बाकी के दोनों केस में इकलौता चश्मदीद हरीश दुलानी था, उसने भी बयान बदल लिए थे। उसने सलमान के अलावा दूसरे कलाकारों को पहचानने से इनकार कर दिया था। दूसरा कमजोर पक्ष यह भी था कि उसमें हिरणों के शव नहीं मिले थे।

जिसके बाद इस केस में दोनों हिरणों के शव का पोस्टमार्टम हुआ था। कांकाणी केस में पहली पोस्टमार्टम रिपोर्ट डॉ. नेपालिया की थी। उनकी रिपोर्ट के मुताबिक, एक हिरण की मौत दम घुटने से और दूसरे हिरण की मौत गड‌्ढे में गिर जाने और श्वानों द्वारा उसे खाने से हुई थी। अभियोजन पक्ष का कहना था कि यह रिपोर्ट सही नहीं थी क्योंकि इसमें गन इंजरी की बात नहीं थी। इसके बाद मेडिकल बोर्ड बैठाया गया। बोर्ड ने दूसरी पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में दोनों काले हिरणों की मौत की वजह गन शॉट इंजरी ही बताई।

इस मामले में सलमान पर कितने केस, उनमें क्या हुआ?

इस मामले में कुल चार केस थे। तीन हिरणों के शिकार के और चौथा आर्म्स एक्ट का।जिसमें पहला केस है कांकाणी गांव केस: इसी केस में सलमान को दोषी ठहराया गया है । उन्हें 5 साल कैद की सजा सुनाई गई।

घोड़ा फार्म हाउस केस: 10 अप्रैल 2006 को सीजेएम कोर्ट ने 5 साल की सजा सुनाई थी। सलमान हाईकोर्ट गए। 25 जुलाई 2016 को उन्हें बरी किया गया। राज्य सरकार ने इस फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील की है।
भवाद गांव केस: सीजेएम कोर्ट ने 17 फरवरी 2006 को सलमान को दोषी करार दिया और एक साल की सजा सुनाई। हाईकोर्ट ने इस मामले में भी सलमान को बरी कर दिया है। राज्य सरकार ने फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील की है।
आर्म्स केस:18 जनवरी 2017 को कोर्ट ने सलमान को बरी कर दिया था। राज्य सरकार ने इस फैसले के खिलाफ हाईकोर्ट में अपील की है।

वन विभाग ने 12 अक्टूबर 1998 को हिरासत में लिया था। वे 17 अक्टूबर तक जेल में रहे।
घोड़ा फार्म मामले में 10 अप्रैल 2006 को सलमान को लोअर कोर्ट ने 5 साल की सजा सुनाई। 15 अप्रैल तक जेल में रहे।
सेशन कोर्ट ने इस सजा की पुष्टि की। तब 26 से 31 अगस्त 2007 तक सलमान जेल में रहे।
इन सभी मामलों में सलमान ने 20 साल में सिर्फ 18 दिन ही जेल में काटे

वैसे तो किसी भी वन्य जीव का शिकार करने पर प्रतिबंध है, लेकिन सलमान का मामला काला हिरण का होने की वजह से गंभीर हो गया. हम आपको बता रहे हैं कि आखिर काला हिरण इतना खास क्यों है।

काला हिरण को भारतीय मृग के नाम से भी जाना जाता है. वैज्ञानिक दृष्टि से देखें तो यह जीनस एन्टीलोप में आता है. जो इस वर्ग की एकमात्र बची हुई प्रजाति है। काला हिरण विलुप्त होता जा रहा है इसलिए भारत में अब यह संरक्षित क्षेत्रों तक ही सीमित हो गया है। वास्तव में 20 वीं शताब्दी में अत्यधिक शिकार से भारत में वन्यजीव संरक्षण अधिनियम, 1972 की अनुसूची-1 के तहत काले हिरण का शिकार निषिद्ध कर दिया गया। जनवरी 2003 में अधिनियम में संशोधन किया गया था और सजा और अधिनियम के तहत अपराधों के लिए जुर्माना और अधिक कठोर बना दिया गया। यही कारण है कि सलमान का इस केस में बच पाना मुश्किल था। फिलहाल अब जबतक सेशन कोर्ट सलमान को राहत नहीं देता तब तक तो सलमान को जेल में ही रहना पड़ेगा। फिलहाल मुझे दीजिए इजाज़त आप बने रहिए ग्रामीण न्यूज़ के साथ।

 

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password