गांधीनगर बना देश का दूसरा महिला स्टेशन : स्टेशन मास्टर से प्वाइंट्समैन तक हर पद पर महिला ही हैं तैनात

भारतीय रेलवे ने एक बार फिर से ऐसा काम कर दिखाया है जिसे देखकर हर कोई रेलवे की तारीफ़ कर रहा है। दरअसल भारतीय रेलवे ने गांधीनगर रेलवे स्टेशन को पूरी तरीके से महिलाओं के हवाले कर दिया है। मतलब ये कि यहां स्टेशन मास्टर से प्वाइंट्समैन तक हर पद पर महिला कर्मी ही तैनात हैं। स्टेशन पर कुल 32 महिलाओं का स्टाफ नियुक्त किया गया है।

महिलाओं की सुरक्षा को ध्यान में रखकर सी.सी.टी.वी. लगाए गए हैं, जिससे स्टेशन स्थित थाने में रियल टाईम मॉनिटरिंग हो सके। स्टाफ शौचालयों का नवीनीकरण किया गया और चेन्जिग रूम का निर्माण जल्द ही पूर्ण किया जाएगा। यहां स्टाफ बिना किसी परेशानी के कार्य कर सके, इसके लिए इन्हें आउट ऑफ टर्न रेलवे क्वार्टर आवंटित किए जाएंगे। गैर सरकारी संगठन आरूषी के साथ मिलकर स्टेशन पर सैनेटरी नैपकीन वेडिंग मशीन भी लगाई गई है।

आपको बता दें कि इससे पहले माटुंगा देश का ऐसा पहला रेलवे स्टेशन बना था जिसका पूर्ण संचालन महिलाओं के हाथों में दी गई थी। बीते वर्ष जुलाई में सेंट्रल रेलवे के जनरल मैनेजर डी के शर्मा की पहल के बाद देश में इस अनूठी परंपरा की शुरुआत हो सकी थीं इस स्टेशन पर 41 महिला कर्मचारी तैनात है। जिसमें प्रमुख रुप से 17 कर्मचारी आॅपरेशन व कमर्शियल ड्यूटी पर, 6 कर्मचारी आरपीएफ में जबकि 8 महिला कर्मचारी टिकिट चैकिंग में तैनात है। इसके अतिरिक्त स्टेशन के अन्य कार्य भी महिलाओं के ही जिम्मे है।

 

 

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password