‘किसान यात्रा रैली’ में हिस्सा लेकर महाराष्ट्र लौट रहे थे हजारों किसान, ट्रैन ने पहुंचा दिया मध्यप्रदेश

देश भर में आए दिन ट्रेन हादसे होते रहते हैं। कभी रेल दुर्घटना हो जाती है तो कभी कोई ट्रैन पटरी से उतर जाती है। मगर रेलवे प्रशासन की लापरवाही रुकने का नाम नहीं ले रही है। इस बार क़िस्मत से ट्रैन पटरी से नहीं उतरी तो क्या लापरवाही देखिए कि ट्रैन गलत ट्रैक पर चली गई।

दरअसल दिल्ली से महाराष्ट्र के लिए रवाना हुई ट्रेन रेलवे प्रशासन की गलती की वजह से मध्य प्रदेश जा पहुंची। ये ट्रेन 160 किमी तक गलत दिशा में चलती रही मगर न तो रेलवे प्रशासन को इसकी जानकारी हुई और न ही ड्राइवर को इसका एहसास हुआ। जब ट्रेन मध्य प्रदेश के बानमोर स्टेशन पहुँच गई तब कहीं जाकर ड्राइवर को होश आया कि ट्रेन गलत रूट पर चल रही है। गनीमत रही कि इस दौरान इस ट्रैक पर कोई भी दूसरी ट्रैन नहीं आई। वरना बड़ा हादसा हो सकता था।

आपको बता दें कि हजारों किसान महाराष्ट्र से दिल्ली के जंतर-मंतर में किसान यात्रा रैली में शामिल होने आए थे। जब ये किसान महाराष्ट्र लौट रहे थे, तो इनके लिए दिल्ली से महाराष्ट्र के लिए इस विशेष ट्रेन की व्यवस्था की गई थी। रेलवे प्रशासन के गैर जिम्मेदार रवैये की वजह से ये किसान अपने घर पहुंचने की बजाय मध्य प्रदेश के बानमोर स्टेशन में यात्री करीब 5-6 घंटे तक फंसे रहे।

वहीं जब इस सम्बन्ध में ट्रेन के ड्राइवर से पूछा, तो उसने मथुरा स्टेशन में गलत सिग्नल दिए जाने की दलील दी। इस बीच सबसे हैरानी की बात ये है कि इस मामले को लेकर अभी तक रेलवे के किसी अधिकारी ने बातचीत तक नहीं की। रेलवे अधिकारियों को न तो यात्रियों की सुरक्षा और सुविधा की परवाह है और न ही अपनी जिम्मेदारी का ज़रा सा भी एहसास है।

 

 

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password