वाराणसी पुल हादसा: 18 की मौत, चीफ प्रोजेक्ट मैनेजर सहित चार अधिकारी सस्पेंड

वाराणसी पुल हादसा: 18 की मौत, चीफ प्रोजेक्ट मैनेजर सहित चार अधिकारी सस्पेंड

वाराणसी पुल हादसा: 18 की मौत, चीफ प्रोजेक्ट मैनेजर सहित चार अधिकारी सस्पेंड  वाराणसी में रेलवे स्टेशन के सामने बन रहे फ्लाई ओवर की बीम गिरने से 18 लोगों की मौत हो गई है। वहीं इस हादसे में कई लोग घायल हुए हैं। वाराणसी में फ्लाईओवर के निर्माण में बरती जा लापरवाही की वजह से इतना बड़ा हादसा हो गया। हादसे के जिम्मेदार उत्तर प्रदेश सेतु निर्माण निगम हैं। जो ट्रैफिक डायवर्जन किए बिना ही निर्माण कार्य कर रहा था। हैरानी की बात तो ये है कि बिना रूट डायवर्जन किए कई टन वज़नी बीम पिलर पर रखी जा रही थी। जिस वक़्त ये बीम रखी जा रही थी उसी वक़्त कई गाड़ियां नीचे से गुजर रही थी। जिसकी वजह से आधा दर्जन से ज्यादा वाहन इन बीमों के नीचे दब गए, जिसमें से 18 से ज्यादा लोगों की जान चली गई है, जबकि कई गंभीर रूप से घायल हैं। बीम के नीचे एक रोडवेज बस, एक बोलेरो, दो कार, एक आटो रिक्शा और चार बाइक दब गईं थीं। आप फोटो में देख सकते हैं कि बीम गिरने से गाड़िया किस तरह से पिचक गई है। इस हादसे में कई लोगों की दर्दनाक मौत हो गई। हालांकि एनडीआरएफ, सेना, पुलिस, पीएसी व स्थानीय लोगों की मदद से चार घंटे तक चले राहत और बचाव कार्य के बाद दोनों बीम को मौके से हटा दिये गया है। नौ क्रेन की मदद से दोनों बीम को करीब चार घंटे में उठाया जा सका।

इस घटना पर प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री और राष्ट्रपति ने दुख व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक जांच समिति भी गठित कर दी है और मृतकों को पांच-पांच और घायलों को दो-दो लाख रुपये देने की घोषणा की है। मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने वाराणसी में पुल गिरने के मामले में सेतु निगम के चीफ़ प्रोजेक्ट मैंनेजर एचसी तिवारी, प्रोजेक्ट मैनेजर राजेन्द्र सिंह और के.आर सूडान को सस्पेंड कर दिया है। साथ ही एक अन्य कर्मचारी लालचंद को भी सस्पेंड किया गया है। देर रात मुख्यमंत्री बनारस पहुंचे और घटना स्थल का जायज़ा भी लिया। इसके बाद वो घायलों से मिलने अस्पताल भी गए। मगर एक बार फिर प्रशासन की लापरवाही की वजह से कई लोग बेमौत ही मारे गए। अगर पहले ही काम सही ढंग से किया गया होता तो ना आज इतनी जानें जाती और ना ही अधिकारीयों को निलंबित करने की जरुरत पड़ती।

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password