प्रद्युम्न हत्याकांड में नया खुलासा : सामने आया एक और छात्र का नाम, शुरुवात से जानें पूरा मर्डर केस…

प्रद्युम्न हत्याकांड में सीबीआई ने एक बार फिर से बड़ा खुलासा किया है। दरअसल अब इस केस में रेयान इंटरनेशनल स्कूल में पढ़ने वाले एक और छात्र का भी नाम सामने आया है। आरोपी छात्र ने एक छात्र का नाम लिया है। आपको बता दें कि ये छात्र भी पकड़े गए 11वीं के छात्र की तरह सोहना का ही रहने वाला है। यही नहीं, जांच टीम में शामिल एक अधिकारी ने संकेत दिए कि जल्द ही और भी लोग हिरासत में लिए जा सकते हैं।कल शाम सीबीआइ की एक टीम छात्र के घर सोहना पहुंची और छात्र के घर का लोकेशन देखकर चली गई। अब जल्द ही इस दूसरे छात्र को कभी भी पकड़ा जा सकता है।

गौरतलब है कि हिरासत में लिए गए आरोपी छात्र ने पूछताछ के दौरान अभी तक दो बार बिना किसी दबाव के ये स्वीकार किया है कि कक्षा दो में पढ़ने वाले प्रद्युम्न की हत्या उसने ही की थी। इतने दिनों से सीबीआइ स्कूल बस के कंडक्टर अशोक के उस बयान की तह तक जाने में लगी है, जिसमें उसने कहा था कि जब वो बाथरूम में गया था तो दो बच्चे कपड़े बदल रहे थे। तभी से सीबीआई शक के आधार पर आरोपी छात्र से कई दिनों से लगातार पूछताछ कर रही थी।

इससे पहले गुरुवार को सीबीआई आरोपी छात्र को लेकर स्कूल पहुंची थी । वहां छात्र ने क्राइम सीन रिक्रिएट कर के सीबीआइ को दिखाया कि गेट से प्रद्युम्न के बाथरूम तक पहुंचने में कितना समय लगा, आरोपी छात्र कितनी देर पहले पहुंचा था, किस तरह से उसने प्रद्युम्न पर हमला किया। वहीं सीबीआई की पूरी टीम छात्र को लेकर सोहना उस दूकान पर भी गई थी जहां से छात्र ने चाकू खरीदा था। सीबीआई की टीम आज फिर वारदात वाले दिन को फिर से दोहराएगी कि उस दिन प्रद्युम्‍न ठाकुर के साथ क्‍या हुआ होगा।

इस बीच सीबीआई जांच में ये भी पता चला कि केस को चंद घंटों में ‘सुलझाने’ की जल्दबाजी में गुरुग्राम पुलिस ने बस कंडक्टर अशोक कुमार को आरोपी बना दिया और उसके पास से हथियार बरामद किए जाने का दावा कर दिया। वहीं अब हरियाणा पुलिस ने यू-टर्न ले लिया है। पुलिस का कहना है कि उसकी जांच किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंची थी। केस में साक्ष्यों के आधार पर कंडक्टर को पकड़ा गया था।

दूसरी ओर सीबीआई द्वारा 16 वर्षीय छात्र के पकड़े जाने के बाद बस कंडक्टर अशोक कुमार के परिवार ने उन पुलिस अधिकारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाने का निर्णय किया है जिन्होंने अशोक को हत्यारोपी बताकर उसे गिरफ्तार किया था। आपको बता दें कि गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल के छात्र प्रद्युम्न की हत्या आठ सितंबर को स्कूल के ही बाथरूम में गला रेतकर कर दी गई थी। जिसके बाद बस कंडेक्टर ने हत्या का गुनाह कबूल किया था। अब सवाल ये उठता है कि जब कंडेक्टर अशोक ने हत्या की ही नहीं थी तो उसने जुर्म कबूला क्यों आखिर किसका दबाव उसपर था अब सीबीआई इसी सवाल का जवाब जानने में जुटी है।

 

 

 

 

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password