आरुषि मर्डर मिस्ट्री में आया नया मोड़, हाईकोर्ट के फ़ैसले को सीबीआई ने दी चुनौती

देश की सबसे बड़ी मर्डर मिस्ट्री आरुषि-हेमराज हत्याकांड में एक बार फिर नया मोड़ आ गया है। सीबीआइ ने पिछले साल आए इलाहाबाद हाईकोर्ट के उस फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है जिसमें सुबूतों के अभाव में आरुषि के पिता राजेश तलवार और मां नूपुर तलवार को बरी कर दिया था।

आपको बता दें कि पांच महीने पहले इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 2008 में 14 साल की आरुषि और हेमराज की हत्या के मामले में सबूतों के अभाव में राजेश तलवार और नुपुर तलवार को बरी कर दिया था। अब सीबीआई ने देश की सर्वोच्च अदालत में हाईकोर्ट के फ़ैसले को चुनौती दी है। दरअसल सीबीआई का कहना है कि हाईकोर्ट ने अपने फ़ैसले में गाज़ियाबाद ट्रायल कोर्ट के “तर्कसंगत” फ़ैसले को ठीक से नहीं देखा है।

गौरतलब है कि नौ साल पहले 15-16 मई 2008 की रात जब 14 वर्षीय आरुषि तलवार की हत्या हुई थी तब ये सवाल उठा था कि हत्यारा आखिर है कौन? मामले की जांच शुरू हुई और जांच एजेंसी की बदलती थ्योरी और उस पर उठते सवालों के बीच ये केस आगे बढ़ता चला गया। हालांकि शुरुआत से लेकर आखिर तक ये केस मिस्ट्री बना रहा और अब भी ये सवाल कायम है कि आखिर आरुषि की हत्या किसने की?

 

 

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password