मिसाल है ये गांव : इस गांव में बोली जाती है अंग्रेजी, घरों में नहीं लगते हैं ताले

जहां एक तरफ लोग बड़े बड़े शहरों की मिसाल दिया करते हैं वहीं अपने गांव भी किसी से कम नहीं हैं। हमारे देश में ऐसे कई गांव हैं जिनसे वाकई हर किसी को बहुत कुछ सीखने को मिलता है। दरअसल झारखंड के चतरा जिले में सिमरिया प्रखंड का एक गांव हडियो जो की चारों ओर से जंगल से घिरा है। मगर अब जंगल से घिरा होने की वजह से आप ये बिलकुल मत सोचिएगा कि ये कोई दकियानूसी सोच वाला गांव है या यहां पर अनपढ़ लोग रहते हैं। लेकिन यहां के लोगों को अनपढ़ और दकियानूसी प्रथाओं से जूझने वाला गांव समझने की गलती न करें। क्योंकि ये गांव साक्षर है और इस गांव के ज्यादातर बच्चे बड़े शहरों के कॉन्वेंट स्कूलों में पढ़ाई करते हैं।

इस गांव की पच्चीस प्रतिशत महिलाएं और पुरुष सरकारी और गैरसरकारी संस्थानों में नौकरी करते हैं। इस गांव कि सबसे बड़ी खूबी ये है कि इस गांव के किसी भी घर में ताला नहीं लगता है। क्योंकि इस गाँव में कोई भी चोरी चकारी करने के बारे में सोचता ही नहीं है। इस गांव की महिलाएं अँधेरा होने पर भी आराम से घर के बाहर आ जा सकती हैं क्योंकि उन्हें पता है कि कोई भी उनके साथ छेड़छाड़ नहीं कर सकता है। इस गांव के पुरुषों का आपस में कभी एक दूसरे से कोई विवाद नहीं होता है। ये जिले का पहला ऐसा गांव है, जहां तीनों मौसम में खेती होती है। लोग धान, गेहूं, मक्का, अरहर, टमाटर आदि की खेती करते हैं। वाकई ये गाँव सिर्फ अन्य गांव ही नहीं बल्कि शहरों के लिए भी मिसाल हैं।

 

 

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password