महिला दिवस विशेष : जानें अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस की ये ख़ास बातें और इससे जुड़ा इतिहास…

आज अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस है। देश ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया 8 मार्च को महिला दिवस मनाती है। आज के दिन महिलाओं के प्रति सम्मान दिखाकर उनकी हर क्षेत्र में हासिल उपलब्धियों का जश्न मनाया जाता है। साथ ही इस दिन उन महिलाओं को भी याद किया जाता है जिन्होंने देश के हित में कई ऐतिहासिक कार्य किए हों। आइए जानते हैं महिला दिवस से जुड़ी कुछ खास बातें और इससे जुड़ा इतिहास…

क्या है इतिहास?

1908- साल 1908 में महिलाएं अपने अधिकारों को लेकर आवाज उठा रही थीं। इसी साल करीब 15 हजार महिलाओं ने वोटिंग अधिकार के लिए न्यूयॉर्क सिटी में एक साथ मार्च किया था।

1909- सोशलिस्ट पार्टी ऑफ अमेरिका ने महिला दिवस बनाने का फैसला किया और पहली बार इस साल महिला दिवस मनाया गया। उस दौरान साल 1913 तक फरवरी के आखिरी रविवार को ये दिन मनाया गया।

1909- 28 फरवरी को पहली बार अमेरिका में ये दिन सेलिब्रेट किया गया। सोशलिस्ट पार्टी ऑफ अमेरिका ने न्यूयॉर्क में 1908 में गारमेंट वर्कर्स की हड़ताल को सम्मान देने के लिए इस दिन का चयन किया ताकि इस दिन महिलाएं काम के कम घंटे और बेहतर वेतनमान के लिए अपना विरोध और मांग दर्ज करवा सकें।

1913 से 1914- रूसी महिलाओं ने पहली बार अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस फरवरी माह के आखिरी दिन पर मनाया। यूरोप में महिलाओं ने 8 मार्च को पीस ऐक्टिविस्ट्स को सपोर्ट करने के लिए रैलियां कीं।

1975- पहली बार संयुक्त राष्ट्र ने 8 मार्च के दिन महिला दिवस सेलिब्रेट करना शुरू किया।

2011- अमेरिका के पूर्व प्रेजिडेंट बराक ओबामा ने मार्च को महिलाओं का ऐतिहासिक महीना माना।

हर देश में इसे अलग अलग तरीकों से मनाया जाता है। संयुक्त राष्ट्र द्वारा चयनित राजनीतिक और मानव अधिकार विषयवस्तु के साथ महिलाओं के राजनीतिक और सामाजिक उत्थान के लिए अभी भी इसे बड़े जोर-शोर से मनाया जाता हैं।

 

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password