ISRO ने लॉन्च किया प्राइवेट कंपनियों का बनाया पहला सैटेलाइट

ISRO ने आज एक सैटेलाइट लॉन्च किया है। जिसे प्राइवेट कंपनियों ने बनाया है। बता दें, इसरो ने इस सैटेलाइट को अपने नेविक फ्लीट को बढ़ावा देने के लिए लॉन्च किया है। इस सैटेलाइट को IRNSS-1L  का नाम दिया गया है। IRNSS-1L को बेंगलुरु की एयरोस्पेस कंपनी अल्फा डिजाइन टेक्नोलॉजीज के ग्रुप ने तैयार किया है। बता दें, ये नया एटॉमिक क्लॉक लगा एक बैकअप नेविगेशन सैटेलाइट है, जिसे इसरो की निगरानी में बनाया गया है। इसरो की तरफ से प्राइवेट कंपनियों के लिए बनाई गई फैसिलिटी में तैयार पहला सैटेलाइट है। इस सैटेलाइट को आज श्रीहरिकोटा से पोलर सैटेलाइट लॉन्च व्हीकल रॉकेट के जरिए लॉन्च किया जाएगा।

जानकारी के अनुसार, ये इसरो के लिए प्राइवेट टीम की तरफ से बनाई गई दूसरी सैटेलाइट है। पहला सैटेलाइट पिछले साल अगस्त में नष्ट हो गया था। जांच में पता चला कि एक एक्सप्लोसिव पूरी तरह डेटोनेट नहीं हो पाया था।

हालांकि इस बार, इसरो ने सैटेलाइट लॉंच के बारे में कमेंट करने से मना किया है। अल्फा डिजाइन के चीफ एग्जिक्यूटिव कर्नल एच एस शंकर ने भी किसी तरह का कमेंट नहीं किया है।

दरअसल, अभी तक इसरो खुद ही सैटेलाइट, स्पेसक्राफ्ट और रॉकेट बनाता था। और सिस्टम्स और सब सिस्टम्स के लिए वह गोदरेज, एलएंडटी और भारत इलेक्ट्रॉनिक्स का सहयोग लेता था। इसरो ने 5 साल में 70 बड़े कम्युनिकेशन के साथ अर्थ ऑब्जर्वेशन सैटेलाइट्स की जरूरत पूरी करने का फैसला किया है। और ग्लोबल सैटेलाइट मार्केट में बढ़े मौकों का फायदा उठाने के लिए प्राइवेट कंपनियों के बीच एक्सपर्टाइज डिवेलप कर रहा है।

जानकारी के मुताबिक, इसरो के पास संसाधनों की कमी है। फिलहाल, इसरो डीप स्पेस एक्सप्लोरेशन के लिए अगली पीढ़ी के सैटेलाइट, रॉकेट और स्पेसक्राफ्ट डिवेलपमेंट करने पर फोकस कर रहा है।

यूरोकंसल्ट के मुताबिक, 2026 तक सरकारी और कमर्शियल ऑर्गनाइजेशंस 50 किलोग्राम से ज्यादा वजन के 3000 से ज्यादा सैटेलाइट बना सकते हैं। इसके अलावा दुनियाभर में ऐसी कंपनियों की बाढ़ आ रही है, जो इन 3000 माइक्रो सैटेलाइट के निर्माण में हिस्सेदारी करने के मौके तलाश रहे हैं। इनमें सबसे बड़ी कंपनी रिचर्ड ब्रैनसन और सॉफ्टबैंक के सपोर्ट वाली सैटेलाइट फर्म वनवेब है। जिसने 1000 से ज्यादा सैटेलाइट तैयार करने का प्लान बनाया है।

 

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password