गुरु नानक जयंती : गुरुनानक देव का 549वां प्रकाश पर्व आज, जानें इससे जुड़ी कुछ खास बातें

आज सिख धर्म के संस्थापक बाबा गुरू नानक देव की 549वीं जयंती है। देशभर में सिख समुदाय के लिए ये दिन बेहद ख़ास होता है। गुरु नानक सिख धर्म के पहले गुरु थे। गुरू नानक देव की जयंती का ये दिन प्रकाश पर्व के रूप में मनाया जाता है। इस दिन गुरुद्वारों में गुरुवाणी का पाठ किया जाता है और शबद-कीर्तन किए जाते हैं। जगह-जगह लंगरों का आयोजन होता है। गुरु पर्व के दिन सुबह 5 बजे प्रभात फेरी निकाली जाती है। इसके बाद लोग गुरुद्वारों में कथा का पाठ सुनते हैं। इसके बाद निशान साहब और पंच प्यारों की झाकियां निकाली जाती है। इसे नगर कीर्तन के नाम से भी जाना जाता है।

इस खास मौके पर दिल्ली के बंगला साहिब गुरुद्वारा को बेहद सुन्दर तरीके से सजाया गया है। देशभर के सभी गुरुद्वारों को सजाया गया है साथ ही कई ख़ास इंतजाम भी किए गए हैं।

गुरुनानाक देव जी का जन्म तलवंडी नामक गांव में कार्तिक पूर्णिमा को हुआ था। तलवंडी का नाम बदलकर अब ननकाना साहिब हो गया है। जो बंटबारे के बाद अब पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में है। गुरु नानक जी ने अपने व्यक्तित्व में दार्शनिक, योगी, धर्मसुधारक, देशभक्त और कवि के कई गुण समेटे हुए थे।

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password