गरीब बच्चों की ज़िंदगी शिक्षा से रौशन कर रहीं हैं विनीता….

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के बंथरा बाजार में एक छोटी सी “थारू” बस्ती की हैं। बड़े स्कूल कॉलेजों से परें यहां जिन बच्चों के हाथों में किताबें होनी चहिए उनके हाथों में तास के पत्ते, जुआ और मुंह में टॉफी की जगह गुटखा तम्बाखू भरा हुआ देखकर आपका मन परेशान हो जाएगा। बस्ती के करीब 50 बच्चे इस दलदल में फसें हुए हैं। बच्चों को स्कूल की तरफ ले जाने के लिए प्रयास शुरू किया और इस सम्बन्ध में बच्चों को शिक्षा का अधिकार दिलाने के लिए सरकार को पत्र लिखा लेकिन अफसोस की सरकार की तरफ से कोई उपाय नही किया गया। अब योगी सरकार के आने के बाद जो उम्मीदें बनी हुई हैं वो भी शायद जल्द ही धाराशाही हो जाएंगी।

मगर बच्चों को इस दलदल से निकालने के लिए ‘बदलाव’ की सदस्य विनीता ने मदद करते हुए उन बच्चों को पढ़ाने की जिम्मेदारी ली। विनीता ने इन बच्चों को शाम को पढ़ाना शुरू किया। आज ये बच्चे पढ़ाई के जरिए अपने सपनों को पूरा करने के लिए कड़ी मेहनत कर रहें है। बाकि कई लोग उस बस्ती के बाकी बचे बच्चों को शिक्षा की धारा में लाने के लिए सघर्ष कर रहें है। अब बस सरकार से दरकार है कि वो भी इन बच्चों के उज्जवल भविष्य के लिए कोई कदम उठाए।

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password