गांव की खबर

मनोज स्वेन

इंग्लिश मीडियम शिक्षा के दलदल से बच्चों को बाहर लाने में जुटे हैं मनोज स्वेन

आज के वक्त में हमारे देश में जहां हर गली, हर नुक्कड़ पर अंग्रेजी सीखाने की क्लासज दी जाती है। तो वहीं लोग भी बड़े उत्साह के साथ, 30 या…

Read More
खंडारा गांव

खंड़ारा गांव में घर के मुखिया की नहीं, बल्कि बेटियों के नाम पर लगती है नेमप्लेट्स

घरों के बाहर लगी नेमप्लेट्स पर अक्सर आपने घर के आदमियों का नाम लिखा देखा होगा। लेकिन मध्य प्रदेश के खंडारा गांव के घरों के बाहर लगी नेमप्लेट्स को लड़कियों…

Read More
बबुई घास

बबुई घास पहले करती थी परेशान, आज वोही हैं खेती और कारोबार करने का जरिया

अगर किसी के अंदर कुछ कर दिखाने का जज्बा हो तो वो हर मंजिल हासिल कर सकता हैं। जी हां…  जंगल में उगने वाली बबुई घास पहले सिरदर्द का कारण…

Read More
किन्नू क्वीन

किन्नू क्वीन बनकर कर्मजीत कौर ने रौशन किया महिला किसानी का नाम

पुरूष किसानों की तरक्की की कहानी तो आपने बहुत सुनी होगी। लेकिन क्या आपने कहीं सुना है। कि महिला किसान ने खेती कर रौशन किया देश का नाम। अगर नहीं…

Read More
मूंगफली की खेती

मूंगफली की खेती की तरफ बढ़ रहा है छत्तीसगढ़ के किसानों का रूझान

छत्तीसगढ़ के कवर्धा जिले में लंबे समय से धान, सोयाबीन, और चने की खेती करता आ रहा किसान अब अपनी परंपरागत खेती में बदलाव लाने के बारे में सोचने लगा…

Read More
मत्तूरु गांव

देश में संस्कृत बोलने वाला एकमात्र गांव है कर्नाटक का मत्तूरु गांव

मत्तूरु गांव कर्नाटक राज्य की तुंग नदी के किनारे बसा हुआ है। प्राचीन काल से ही मत्तूरु गांव में संस्कृत भाषा बोली जा रही है।33 साल पहले पेजावर मठ के…

Read More
फूलबासन यादव

फूलबासन यादव ने कुछ इस तरह तय किया दो रूपये से 25 करोड़ तक का सफर

छत्तीसगढ़ की रहनी वाली फूलबासन यादव की कहानी बाकी औरतों से थोड़ी-सी अलग हैं। कच्ची उम्र में शादी, फिर 20 तक की उम्र में 4 बच्चों की मां बनने तक…

Read More
इंटीग्रेटेड फॉर्मिंग

खेती की इंटीग्रेटेड फॉर्मिंग तकनीक अपनाकर साल में लाखों कमाता है ये किसान

खेती को घाटे का सौदा माना जाता है। क्योंकि इसमें लागत और मेहनत ज्यादा लगती है लेकिन मुनाफा कम होता है। लेकिन अब कई किसान इसी खेती से मुनाफा कमाना…

Read More
देसी सीड ड्रिल मशीन

देसी सीड ड्रिल मशीन बनाकर गांव-गांव मशहूर हुआ ये किसान

इंसान के कई शौक आपने सुने होंगे। लेकिन किसानी का शौक थोड़ा नया है। जी हां, ऐसा ही एक शौक 60 वर्ष के गंगा शंकर को भी है। बढ़ईगिरी का…

Read More
सुप्रीम कोर्ट

“शब्द भ्रमित है, भावना ही यथार्थ है…इसलिए हमारे समाज में उलझनें ज्यादा हैं”

आज हमारा देश विकास के नाम पर अनेकों दावे कर रहा है. राजनीतिक गलियारों में रोज नई नई बहस छिड़ रही है. पूरे देश में कुछ ऐसा माहौल बना हुआ…

Read More

Page 1 of 3

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password