छायन गांव के सरकारी स्कूल में पढऩे वाले बच्चे बोलते हैं फर्राटेदार अंग्रेजी

छायन गांव के सरकारी स्कूल में पढऩे वाले बच्चे बोलते हैं फर्राटेदार अंग्रेजी

छायन गांव के सरकारी स्कूल में पढऩे वाले बच्चे बोलते हैं फर्राटेदार अंग्रेजी नीमच : हमारी ये सोच बन चुकी है कि फ़र्राटेदार अंग्रेजी सिर्फ इंग्लिश मीडियम में पढ़ने वाले बच्चे ही बोल सकते हैं। अगर आप भी ये सोचते हैं तो आप बिलकुल गलत हैं क्योंकि मध्यप्रदेश के नीमच जिले में एक गांव ऐसा भी है, जहां हिन्दी मिडियम के सरकारी स्कूल में कक्षा एक से पांच तक पढऩे वाले बच्चे फर्राटेदार अंग्रेजी बोलते हैं। जी हाँ, सुनकर हैरानी हुई ना ! मगर ये सच है कि नीमच जिले के सरकारी स्कूल में बच्चे फर्राटेदार अंग्रेजी बोलना सीख रहे हैं।

आपको बता दें कि ये सभी बच्चे अंग्रेजी के सवालों के जवाब अंग्रेजी में ही देते हैं। इस स्कूल में इन बच्चों को अंग्रेजी बोलने के साथ-साथ लिखने की शिक्षा भी दी जाती है। यही नहीं जनरल नालेज हो या फिर गणित के कठिन सवाल, हर विषय में ये बच्चे सटीक जवाब देते नजर आएंगे। दरअसल इसका कारण ये है कि स्कूल में पढ़ाने वाले शिक्षक प्रभारी प्रधानाध्यापक जगदीश चंद्र बोराणा बच्चों को शिद्दत से अंग्रेजी पढ़ते हैं। जिसको देखते हुए अब धीरे-धीरे प्राइवेट स्कूलों से मुंह मोडक़र बच्चे सरकारी स्कूल की तरफ रुख कर रहे हैं। वही स्कूल में स्वच्छता अभियान को लेकर भी विद्यार्थियों में काफी जागरूकता दिखाई दे रही है। कहीं न कहीं सरकार के स्कूल चले अभियान इस स्कूल की तस्वीर सच साबित होती दिखाई दे रही है। जिला मुख्यालय से 25 किलोमीटर की दूरी पर स्थित गांव छायन का ये स्कूल दूसरे सरकारी स्कूलों के लिए एक मिसाल बन चुका है।

 

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password