Grameen News

True Voice Of Rural India

Month: February 2019

1 min read

पुलवामा में शहीद सैनिकों की अगर बात करें तो जहां एक तरफ पूरा देश इस समय उन शहीद परिवारों के साथ खड़ा है...वहीं दूसरी तरफ सभी अपने अंदर गुस्से समेटे पाकिस्तान से बदला लेने की बात कररहे हैं. जहां हर भारतीय नागिरक के दिमाग में इस समय पाकिस्तान को लेकर गुस्सा साफ दिखाई दे रहा है. वहीं दूसरी तरफ पुलवामा हमले में सीआपीएफ जवानों की शहादत पर देश के साथ देश के डाकूओं केभी सुर सुनाई दे रहे हैं. इसी क्रम में कभी चंबल की घाटी में आतंक पर्याय रहे डाकू मलखान सिंह ने भी पाकिस्तान के खिलाफ अपना आक्रोश जाहिर किया है. पूर्व दस्यु सरगना मलखान सिंह सीआरपीएफ जवानों की शहादत को लेकर आहात हैं. मलखान सिंह ने कहा की मध्य प्रदेश में 700 बागी बचे हैं. अगर सरकार अनुमति दे तो वो बिना शर्त, बिना वेतन केअपने देश के लिए बॉर्डर पर लड़ने-मरने को तैयार हैं. इस दौरान डाकू मलखान सिंह ने कहा की पुलवामा में जो हमारे सैनिक शहीद हुए हैं, उसके लिए हम सबका खून खौल रहा है. इसके साथ उन्होंने कहा की हमें इसका कायराना हरकत का बदला जरूर लेनाचाहिए. इस समय में कश्मीर पर भी हमें फैसला लेने चाहिए क्योंकि अगर इस समय अगर इस पर फैसला नहीं हुआ तो कोई भी इंसान राजनीति पर विश्वास नहीं करेगा.    Grameen News के खबरों को Video रूप मे देखने के लिए ग्रामीण न्यूज़ के YouTube Channel को Subscribe करना ना भूले  ::...