हिमाचल में अब चुटकियों में ऐसे पकड़ा जाएगा अपराधियों का झूठ

हिमाचल में अब चुटकियों में ऐसे पकड़ा जाएगा अपराधियों का झूठ

हिमाचल में अब चुटकियों में ऐसे पकड़ा जाएगा अपराधियों का झूठ अब झूठ बोलकर पुलिस को गुमराह करने वाले अपराधियों की हिमाचल में खैर नहीं। ऐसे शातिर अपराधियों से अब प्रदेश पुलिस बिना समय गंवाए राज्य में ही सच उगलवा सकेगी। हिमाचल प्रदेश पॉलीग्राफ टेस्ट सुविधा देने वाला देश का छठा राज्य बन गया है। शिमला के निकट जुनगा स्थित स्टेट फारेंसिक साइंस लेबोरेटरी में ये सुविधा शुरू भी हो गई है। गौरतलब है कि अभी तक देश में पॉलीग्राफ टेस्ट की सुविधा केवल गुजरात, महाराष्ट्र, हरियाणा, दिल्ली और सीबीआई के पास ही उपलब्ध थी। ऐसे में प्रदेश पुलिस को अपराधियों के पॉलीग्राफ टेस्ट के लिए अक्सर गुजरात का रुख करना पड़ता था। इसमें जहां काफी लम्बा समय लग जाता था। साथ ही अपराधियों को लाने ले जाने में सुरक्षा संबंधी जोखिम भी उठाना पड़ता था।

सीबीआई और प्रदेश पुलिस को हाल ही में दो बहुचर्चित मामलों गुड़िया बलात्कार और हत्या मामला और 4 साल के युग हत्याकांड में पॉलीग्राफ टेस्ट करवाना पड़ा था। खासकर गुड़िया बलात्कार व हत्या मामले में बड़ी संख्या में संदिग्धों से पूछताछ के चलते प्रदेश में इस सुविधा की सबसे अधिक जरूरत महसूस हुई थी। अभी तक राज्य के तीन जिलों कांगड़ा, मंडी और शिमला से प्रयोगशाला को पॉलीग्राफ टेस्ट के लिए आग्रह प्राप्त हुए हैं। एसएफएसएल के निदेशक अरुण शर्मा के मुताबिक ऐसे में प्रयोगशाला में विशेषज्ञों ने भी पॉलीग्राफी टेस्ट के लिए तैयारियां कर ली है और इस टेस्ट के दौरान पूछे जाने वाले सवालों की न केवल फेहरिस्त तैयार है बल्कि जांच अधिकारियों को भी इस सुविधा का लाभ लेने के लिए प्रशिक्षित किया जा रहा है। उनका ये भी कहना है कि राज्य फारेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला को आधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित की ओर ये पहला कदम है और अगले कदम के रूप में प्रयोगशाला में अब ब्रेन इलेक्ट्रॉनिक ऑसिलेटर स्क्रीनिंग तथा आवाज के नमूनों के विश्लेषण जैसी सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाएंगी।

 

 

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password