‘राइट टू प्ले’ पर राज्यसभा में सचिन की पहली स्पीच हंगामें के चलते हुई रद्द

राज्यसभा में पहली बार सचिन तेंडुलकर पहली बार सदन में स्पीच देने के लिए खड़े हुए, लेकिन कांग्रेस मेंबर्स के हंगामे की वजह से बोल नहीं ही पाए। सचिन सदन में राइट टू प्ले और भारत में खेल के भविष्य पर बोलने वाले थे। लेकिन हंगामें के दौरान राज्यसभा स्पीकर वेंकैया नायडू ने कहा कि “सचिन देश के युवाओं के लिए आइडल हैं, उन्हें भारत रत्न मिला है, उन्होंने देश का नाम ऊंचा किया है और हमें उनकी रिस्पेक्ट करनी चाहिए। आप लोगों (कांग्रेस मेंबर्स) का तरीका ठीक नहीं है, ये सही पद्यति नहीं है। आप जो कर रहे हैं, उसे पूरा देश देश रहा है। मैं अब आप लोगों की समझ पर सब छोड़ रहा हूं।”  लेकिन इसके बाद भी लगातार हंगामा होता ही रहा. दरअसल कांग्रेस और बीजेपी के मेंबर्स के बीच नरेंद्र मोदी के मनमोहन सिंह पर दिए गए बयान को लेकर हंगामा कर रहे थे। जिसके बाद राज्यसभा स्पीकर वेंकैया नायडू ने शुक्रवार तक के लिए सदन स्थगित कर दिया। सचिन तेंडुलकर को 2012 में राज्यसभा के लिए नॉमिनेट किया गया था।

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password