भाजपा विधायक पर सामुहिक दुष्कर्म का आरोप, पीड़िता के पिता की उन्नाव जेल में हुई मौत

उन्नाव। लखनऊ में मुख्यमंत्री आवास के पास आत्महत्या की कोशिश करने वाली किशोरी के पिता की जेल में मौत हो गई है। बता दें कि, भारतीय जनता पार्टी के विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर सामूहिक दुष्कर्म करने का आरोप है। हालांकि, उन्नाव के माखी थाना क्षेत्र की पुलिस को अपनी यह मनमानी महंगी पड़ी। मुख्य आरोपी कुलदीप सिंह के भाई का नाम तहरीर से हटाने के आरोप में एसओ माखी अवधेश भदौरिया को एसपी ने निलंबित कर दिया है।

जानकारी के मुताबिक, 3 अप्रैल की शाम को विधायक के भाई अतुल सिंह ने किशोरी के पिता को पीट-पीटकर अधमरा कर दिया था। जिसके तुरंत बाद ही पीड़िता की मां माखी पुलिस थाना मुकदमा दर्ज कराने पहुंची। लेकिन माखी थानाध्यक्ष अवधेश सिंह भदौरिया ने रिपोर्ट से विधायक के भाई का नाम हटाकर पीड़िता के पिता के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर लिया। जबकि काफी दबाव के बाद भी किशोरी की मां की तरफ से दी गई तहरीर में विधायक के भाई का नाम पुलिस ने दर्ज नहीं किया था।

विधायक कुलदीप सिंह के भाई अतुल सिंह पर आरोप है, कि बेटी को अगवा कर उसके साथ दुष्कर्म करने की शिकायत के बाद भाजपा विधायक के भाई ने परिजनों को जमकर पीटा था। पीड़िता ने बताया कि, उसके पिता और चाचा को बुरी तरह से पीटा गया था। लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। बल्कि पीड़ित परिवार के खिलाफ ही मुकदमा दर्ज कर दिया।

खबर के अनुसार, पीड़िता के घरवालो ने लंबे समय से चल रहे मुकदमे को वापस लेने से इंकार कर दिया था। जिसकी वजह से किशोरी के पिता को विधायक के भाई समेत उसके साथियों ने मिलकर पीट-पीटकर अधमरा कर दिया। और इसी के साथ पुलिस की मिलीभगत से पीड़िता के पिता को जेल में बंद कर दिया गया। जहां इलाज न मिल पाने की वजह से उनकी मौत हो गई। पीड़िता का कहना है, कि जल्द ही उसे भी मौत के घाट उतार दिया जाएगा।

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password