औरतों को बीमारी से बचाने के लिए सैनिटरी पैड्स बेच रहीं हैं ग्रामीण महिलाएं

औरतों को बीमारी से बचाने के लिए सैनिटरी पैड्स बेच रहीं हैं ग्रामीण महिलाएं

औरतों को बीमारी से बचाने के लिए सैनिटरी पैड्स बेच रहीं हैं ग्रामीण महिलाएं आजकल मासिक धर्म को लेकर फैलाई जा रही है जागरूकता की वजह से ग्रामीण महिलाएं भी अब मासिक धर्म से जुड़े हर जागरूकता अभियान का हिस्सा बन रही हैं। बात करें अगर छत्तीसगढ़ की तो यहां कांकेर जिले की कुछ महिलाओं ने समाज में स्वच्छता के प्रति जागरूकता लाने के लिए बेहतरीन प्रयास शुरू किया है। दरअसल इस जिले के राजपुर गांव की महिलाएं स्वयं सहायता समूह के जरिए सैनिटरी पैड्स को सस्ते दरों में उपलब्ध करा रही हैं। यही नहीं इन महिलाओं का समूह गांव में महिलाओं को इसकी ज़रूरत के लिए जागरूक भी कर रही हैं।

सबसे बड़ी बात तो ये है कि महिलाओं का ये समूह सेनेट्री पेड जिस दाम पर खरीद कर लाता है उसी दाम पर गांव में ये इसे बेचा करते हैं। क्योंकि इन महिलाओं का मक़सद फायदा कमाना नहीं बल्कि लोगों में जागरूकता फैलाना है।

ग्रामीण इलाकों में पानी, साफ सफाई, शौचालय और सही जानकारी न होने की वजह से महिलाओं में कई गंभीर बीमारियां भी हो जाती हैं। इस समस्या से निपटने के लिए सबसे सही उपाय ये होता है कि जागरूकता बढ़ाई जाए और सैनिटरी पैड्स का इस्तेमाल किया जाए।

इसलिए अब छत्तीसगढ़ में महिलाओं को बीमारी ना हो और महिलाएं मासिक धर्म के लिए सजग रहें इसलिए अब इन महिलाओं ने इस दिशा में एक अनोखा प्रयास शुरू किया है। वहीं इस कार्यक्रम को ‘प्रदान’ एनजीओ का सहयोग भी मिल रहा है। इस इलाके में ये एनजीओ 2008 से काम कर रहा है।

आपको बता दें कि ये अभियान पिछले साल शुरू हुआ। पहले महिलाओं को बात करने में भी इतना संकोच होता था कि महिला आपस में इसके बारे में भी बात नहीं कर पाती थीं। मगर अब महिलाएं इस मामले में खुलकर बात भी करती हैं और दूसरों को जागरूक भी कर रही हैं।

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password