किसान अब पांच रुपए की आवेदन फीस जमा करके ले पाएंगे बिजली कनेक्शन

किसान अब पांच रुपए की आवेदन फीस जमा करके ले पाएंगे बिजली कनेक्शन
किसान अब पांच रुपए की आवेदन फीस जमा करके ले पाएंगे बिजली कनेक्शन    बिजली चोरी की घटनाए अब आम हो चुकी हैं। जिसकी खबरे आऐ दिन हम लोग सुनते रहते हैं। बिजली चोरी के लंबे – चौड़े बिलों से बचने के लिए हर कोई बिजली की चोरी करता हैं हालांकि बिजली विभाग चोरी रोकने के लिए हर पैतरे अपनाता रहा लेकिन बिजली चोरी की घटनाओ पर पूरी तरह से लगाम नही लगा पाया। लेकिन मध्यप्रदेश के शिवपुरी जिले के बिजली विभाग ने बिजली चोरी को रोकने के लिए एक तरकीब निकाली हैं। जिससे कि जिले के किसानों को इसका फायदा होगा।
वो ये कि अब बिजली कनेक्शन लेने के लिए किसानों को कनेक्शन के नाम पर मोटी रकम जमा नहीं करनी होगी। बल्कि सिर्फ पांच रुपए की आवेदन फीस जमा करके ट्यूबवेल और कुएं के लिए ऑनलाइन बिजली कनेक्शन लिया जा सकेगा। बता दें कि जिले में कनेक्शन संख्या बढ़ाने के साथ – साथ बिजली चोरी रोकने के लिए कंपनी ने ये नया रास्ता निकाला हैं। ताकि, किसान इससे फायदा उठाकर बिजली कनेक्शन ले और कंपनी में वैध हो जाए।
इतना ही नही बिजली कंपनी कनेक्शन देने के लिए पहले उपभोक्ताओ से कई कागजों की मांग करती थी, जिसमें जमीन के कागजात से लेकर ट्यूबवेल की परमिशन और अन्य जरुरी कागजात शामिल होते थे। लेकिन कंपनी के नए सर्कुलर के तहत अब किसानों को यह कागजात लगाने की जरूरत नहीं होगी। बल्कि अब किसानों को आधार कार्ड और खसरे की नकल उपलब्ध करानी होगी। वहीं इससे पहले कनेक्शन चार्ज के नाम पर 1400 रुपए लगते थे, जिसमें स्टांप ड्यूटी के रूप में 500 रुपए,सिक्योरिटी चार्ज 300 रुपए, ठेकेदार शुल्क 200 रुपए और कनेक्शन चार्ज 400 रुपए लगते थे। लेकिन स्टांप शुल्क, ठेकेदार शुल्क, सिक्योरिटी चार्ज और कनेक्शन चार्ज की जो फीस है, वो बिल के साथ ली जाएगी।  बहरहाल इस योजना का मुख्य उद्देश्य किसानों के अवैध कनेक्शन को खत्म करना हैं। जिसकी कोशिशे अब बिजली विभाग के द्वारा की जा रही है।

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password