एक परिवार जो मांग रहा है ‘इच्छा मृत्यु”

इस समाज में शायद इंसानियत कहीं खत्म हो गई है. लोग अपने घमंड के आगे लोगों की मजबूरी देख ही पा रहें है. तभी तो केवल तालाब में मछली मारने की कोशिश में पूरे परिवार का हुक्का पानी बंद कर दिया और परिवार अब इच्छा मृत्यु की मांग कर रहा है. आपको बताते है कि पूरा मामला आख़िरकार है क्या. यह मामला छत्तीसगढ़ के धमतरी के कुरूद ब्लाक के उमरदा गांव का जहां एक परिवार के कीर्तन कंवर नाम के शख्स ने तालाब में मछली मारने की कोशिश की थी. जिसके बाद सरपंच ने इसकी सजा के तौर पर कीर्तन पर 20 हजार का अर्थदंड लगा दिया. इतना ही नहीं सरपंच ने सजा के तौर पर उसके परिवार को समाज से बहिष्कृत कर दिया गया और हुक्कापानी भी बंद कर दिया गया. इसके बाद इस परिवार की मुश्किलें हद पार कर गई. परिवार से गांव में कोई संबंध नहीं रखता. जब पीड़ित ने हुक्का पानी बंद कराने की शिकायत जब अधिकारियों से की तो कोई समाधान नहीं निकला. जिस से तंग आकर परिवार ने जिला प्रशासन से इच्छा मृत्यु की मांग करने लगे. इच्छामृत्यु के लिए आवेदन के बाद कलेक्टर ने कुरूद एसडीएम को मामले का निराकरण करवाने के निर्देश दे दिये हैं. बताया जा रहा है कि मामला साल भर पुराना है.

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password