Grameen News

True Voice Of Rural India

History of 8th Sep- 1933 में मशहूर गायिका आशा भोसले का जन्म हुआ

1 min read
History of 8th Sep

History of 8th Sep

Sharing is caring!

History of 8th Sep-

  1. आज ही के दिन 1933 में 20 भाषाओं में 12 हजार से ज्‍यादा गाने गा चुकी आशा भोसले का जन्‍म हुआ था। 8 सितम्बर 1933 को जन्मी आशा भोसले ने 1943 से अपना करियर शुरू किया और तब से वो अब तक लगातार गा रही हैं। केवल 10 साल की उम्र से उन्होंने गाना शुरू कर दिया था। हिंदी फिल्मों में उन्होंने गाने की शुरुआत 1948 में रिलीज हुई फिल्म चुनरिया से की थी। आपको बता दें कि आशा ने एक हजार से भी ज्यादा फिल्मों में और करीब 12 हजार से ज्यादा गाने गाए हैं। बता दें कि उन्होंने कुल 20 भाषाओं में 1000 से ज्यादा फिल्मों में काम किया है।

    2. आज ही के दिन 8 सितंबर का दिन भारत के इतिहास में एक काला अध्याय के रूप में याद किया जाता है। इसी दिन महाराष्ट्र के माले गांव भयानक बम ब्लास्ट हुआ था। दरअसल, 8 सितंबर 2006 को महाराष्ट्र राज्य के नासिक जिले में बम विस्फोट हुआ। ये विस्फोट मालेगांव शहर के एक बड़े कब्रिस्तान व मस्जिद के करीब किया गया था। इस खतरनाक हादसे में लगभग 37 निर्दोष लोगों की जान चली गई थी. इसी के साथ ही 125 से अधिक लोग जख्मी हुए थे.ये विस्फोट उस समय हुआ जब मुस्लिम धर्म के लोग पास की मस्जिद से जुमा की नमाज़ अदा करने मस्जिद की ओर जा रहे थे। 2013 में हिन्दू चरमपंथी अभिनव भारत संगठन के सदस्यों को इसका दोषी पाया गया था।

    3. आज ही के दिन 1926 में भूपेंद्र हजारिका का जन्‍म हुआ था। भुपेन हजारिका भारत के पूर्वोत्तर राज्य असम से एक बहुमुखी प्रतिभा के गीतकार, संगीतकार और गायक थे। इसके अलावा वो असमिया भाषा के कवि, फिल्म निर्माता, लेखक और असम की संस्कृति और संगीत के अच्छे जानकार भी रहे थे। वो भारत के ऐसे कलाकार थे जो अपने गीत खुद लिखते थे, म्यूजिक भी खुद ही देते थे और साथ में उसे गाते भी थे। इसके अलावा उन्होंने कविता लेखन, पत्रकारिता, गायन, फिल्म निर्माण आदि अनेक क्षेत्रों में काम किया।

    4. आज ही के दिन 8 सितंबर के दिन पूरे विश्व में साक्षरता दिवस के रूप में मनाया जाता है। यूनेस्कों ने विश्व स्तर पर शिक्षा को बढ़ावा देने व उसकी अहमियत को लोगों तक पहुँचाने के मकसद से इस आयोजन की शुरुआत करने का फैसला किया था। विश्व साक्षरता दिवस मनाने का ये फैसला 17 नवंबर 1965 की लिया गया था। इसके अगले साल 8 सितंबर 1966 को पहली बार विश्व साक्षरता दिवस मनाया गया था।

    5. आज ही के दिन 8 सितंबर 1991 को मैसेडोनिया देश को युगोस्लाविया के हाथों स्वतंत्रता प्राप्त हुई थी। इस लिहाज से ये दिन मैसेडोनिया नागरिकों के लिए बड़ा खास होता है। दिलचस्प बात तो ये है कि यहां 8 सितंबर 1991 को मैसेडोनिया को एक स्वतंत्र गणराज्य बनाने के लिए जनमत संग्रह का आयोजन किया गया था। इस जनमत संग्रह में लगभग 95 प्रतिशत नागरिकों ने आज़ादी के लिए मतदान किया था। इसके बाद युगोस्लाविया के साथ अपनी कुछ सीमा रेखा में कुछ परिवर्तन से दोनों देशों के बीच मैसेडोनिया को स्वतंत्र करने की सहमति बनी थी।

    6. आज ही के दिन 8 सितंबर 1320 को तुगलक वंश के संस्थापक गाजी मलिक दिल्ली के सुल्तान बने थे। इन्हें इतिहास में गयासुद्दीन तुगलक के नाम से जाना जाता है। इससे पहले वो खिलजी वंश के शासक कुतुबुद्दीन मुबारक खिलजी के समय उत्तर पश्चिम सीमांत प्रान्त का एक शक्तिशाली और साहसी गवर्नर था। सुल्तान बनने के बाद उन्होंने आर्थिक सुधार के लिए कई ठोस कदम उठाये थे। बता दें कि गयासुद्दीन तुगलक एक बलवान व निडर बादशाह था। उसने अपने शासन काल में कई बार मंगोंलो के आक्रमण को असफल बनाया था।

    7. आज ही के दिन 1943 में द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान इटली ने मित्र सेना के साथ एक बिनाशर्त युद्धविराम संधि पर दस्तखत किया था। जिसकी घोषणा जनरल आइजनहावर ने की थी।

    8. आज ही के दिन 1986 में चिली के राष्ट्रपति अगस्टो पिनोशे एक जानलेवा हमले में बाल-बाल बचे थे। आपको बता दें कि इस हमले में उनके पांच अंगरक्षकों की मौत हो गई थी और 11 ज़ख़्मी हो गए थे जबकि जनरल पिनोशे को मामूली चोट पहुंची थी।

History of 8th Sep को वीडियो रूप में देखने के लिए नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें-

खेती-बाड़ी और किसानों से जुड़ी सभी जानकारियों के लिए नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें-

https://www.youtube.com/user/Greentvindia1/videos

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *