History of 13th April- 13 अप्रैल 1919 जलियांवाला बाग हत्याकांड

History of 13th April-

History of 13th April-

13 अप्रैल 1919 का दिन भारतीय इतिहास के सबसे काले अध्याय में से एक है. क्योंकि आज ही के दिन भारतीय इतिहास में जलियांवाला बाग हत्याकाण्ड को अंजाम दिया गया था. आपको बता दें कि, पंजाब के अमृतसर जिले में ऐतिहासिक स्वर्ण मंदिर के नजदीक रोलेट एक्ट के विरोध की सभा में आए लोगों पर ब्रिगेडियर जनरल डायर के नेतृत्व में अंग्रेजी फौज ने सैकड़ों निहत्थे लोगों पर गोलियां चलवाई थी. इस हत्याकाण्ड में लगभग हजार की संख्या में लोगों की मौत हुई थी जबकि हजार की संख्या से कई ज्यादा लोग घायल हुए थे. आपको बता दें की आज इस हत्याकाण्ड की 100वीं बरसी है.

आज ही के दिन साल 1699 में सिखों के दसवें गुरु गोविंद सिहं जी ने खालसा पंथ की स्थापना की थी. इस दिन को फसल पकने की खुशी में वैसाखी के त्योहार के रुप में भी मनाया जाता है. आपको बता दें कि, गुरू गोबिन्द सिंह ने सिखों के पवित्र ग्रन्थ ‘गुरु ग्रंथ साहिब’ को पूरा किया था. बिचित्र नाटक को उनकी आत्मकथा माना जाता है. यही उनके जीवन के विषय में जानकारी का सबसे महत्वपूर्ण स्रोत है. जोकि दसम ग्रन्थ का एक भाग है.

आज ही के दिन 1984 में भारतीय क्रिकेट टीम ने शारजाह में पाकिस्तान टीम को 58 रनों से हराकर पहली बार एशिया कप खिताब अपने नाम किया था. आपको बता दें की 1984 का एशिया कप एक राउंड रोबिन टूर्नामेंट था जहां प्रत्येक टीम ने एक-एक मैच दोनों सभी के खिलाफ खेला था. इस दौरान भारतीय टीम ने दोनों मैचों में जीत हासिल की थी जबकि श्रीलंका दूसरे स्थान पर रहा और पाकिस्तान तीसरे स्थान पर रहा था.

आज ही के दिन साल 1890 में भारत की पहली फिल्म ‘श्री पुंडलिक’ बनाने वाले फिल्मकार दादासाहब तोरणे का जन्म  हुआ था. आपको बता दें कि, श्री पुंडलिक भारत की पहली फीचर फिल्म थी. जिसको दादासाहब तोरणे ने डायरेक्ट की थी. इस फिल्म को 12 मई 1918 में रिलीज किया गया था.

आज ही के दिन साल 1960 में फ्रांस ने सहारा मरुस्थल में परमाणु बम का परीक्षण किया था. जिसके बाद परमाणु का सफल परीक्षण करने वाला फ्रांस दुनिया का चौथा परमाणु संपन्न देश बन गया था.

आज ही के दिन साल 1980 में अमेरिका ने मास्को में हो रहे ग्रीष्मकालीन ओलंपिक खेलों का बहिष्कार किया. आपको बता दें कि, अमेरिकी राष्ट्रपति जिमी कार्टर के आग्रह पर संयुक्त राज्य अमेरिका के नेतृत्व में, 65 देशों ने अफगानिस्तान में सोवियत युद्ध के कारण खेल का बहिष्कार किया,  हालांकि कुछ बहिष्कार देशों के कुछ एथलीटों ने ओलंपिक ध्वज के तहत खेल में भाग लिया.

आज ही के दिन साल 1975 में लेबनान की राजधानी बेरुत में 17 फ़लस्तीनियों की हत्या कर दी गई थी. जिसमें एक दक्षिणपंथी गुट ‘फ़लेन्जिस्ट’ के बंदूक धारियों ने ईसाई बहुल इलाक़े से होकर गुज़र रही एक बस में बैठे फ़लस्तीनियों पर हमला किया. इस हमले में 17 फिलिस्तीनी मारे गए और 30 के क़रीब लोग घायल हुए थे. मारे जाने वालों में महिलाएं और बच्चे भी शामिल थे.

 

Grameen News के खबरों को Video रूप मे देखने के लिए ग्रामीण न्यूज़ के YouTube Channel को Subscribe करना ना भूले  ::

https://www.youtube.com/channel/UCPoP0VzRh0g50ZqDMGqv7OQ

Kisan और खेती से जुड़ी हर खबर देखने के लिए Green TV India को Subscribe करना ना भूले ::

https://www.youtube.com/user/Greentvindia1

Green TV India की Website Visit करें :: http://www.greentvindia.com/

 

 

 

 

 

 

 

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password