Grameen News

True Voice Of Rural India

History of 11th August-क्रांतिकारी खुदीराम बोस को फांसी दी गई

1 min read
11 August history

History of 11th August-क्रांतिकारी खुदीराम बोस को फांसी दी गई

Sharing is caring!

History of 11th August-

आज ही के दिन साल 1778 में दुनिया में जिमनास्टिक्स की नींव रखने वाले जर्मन शिक्षक फ्रेडरिक लुडविग का जन्म हुआ था. आपको बता दें कि, फ्रेडरिक लुडविग जर्मनी जिमनास्टिक्स, शिक्षक व राष्ट्रवादी थे. जिनके लेखन को जर्मन जिमनास्टिक्स आंदोलन की स्थापना के साथ-साथ 1813 के जर्मन अभियान को प्रभावित करने का श्रेय दिया जाता है, इसके अलावा फ्रेडरिक को जिम्नास्टिक का जनक कहा जाता है.

आज ही के दिन साल 1908 में क्रांतिकारी खुदीराम बोस को फांसी दी गई थी. आपको बता दें खुदीराम बोस भारतीय स्वाधीनता के लिये महज 19 साल की उम्र में फांसी पर चढ़ गए थे. ऐसा माना जाता है कि वे अपने देश के लिए फांसी पर चढ़ने वाले सबसे कम उम्र के युवा क्रांतिकारी व देशभक्त थे.

आपको बता दें की आज ही के दिन साल 1961 में दादर नगर हवेली को भारत में मिलाया गया था, जिसके बाद इसे केंद्रशासित प्रदेश बनाया गया था. आपको बता दें की दादर नगर हवेली भारत के महाराष्ट्र और गुजरात के बीच स्थित है. जिसकी राजधानी सिलवासा है.

आज ही के दिन साल 1942 में भारतीय रिजर्व बैंक के पूर्व गर्वर दुव्वरी सुब्बाराव का जन्म हुआ था. आपको बता दें की दुव्वरी सुब्बाराव एक अर्थशास्त्री के साथ साथ केंद्रीय बैंकर हैं. जिन्होंने 5 सितंबर 2008 को 22 गर्वनर के तौर शपथ ली थी.

आज ही के दिन साल 1974 में भारत की पूर्व महिला क्रिकेट खिलाड़ी अंजू जैन का जन्म हुआ था. आपको बता दें की अंजू जैन ने भारत के लिए आठ टेस्ट मैच खेले थे. इसके अलावा 65 एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं. अंजू भारतीय टीम की एक विकेट-कीपर थी. अंजू जैन भारतीय टीम की कप्तान भी रह चुकी हैं. यही वजह है की भारत सरकार ने उन्हें 2005 में अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया था.

आज ही के दिन साल 2007 में मोहम्मद हामिद अंसारी देश के 13वें उपराष्ट्रपति बने थे. आपको बता दें कि, हामिद अंसारी भारतीय अल्पसंख्यक आयोग के भूतपूर्व अध्यक्ष भी भी रह चुके हैं. इसके अलावा वो एक शिक्षाविद व प्रमुख राजनेता हैं, साथ ही हामिद अंसारी अलीगढ मुस्लिम विश्वविद्यालय के उपकुलपति भी रह चुके हैं.

आज ही के दिन साल 2012 में ईरान में आए एक विनाशकारी भूकंप के चलते ईरान में भयानक तबाही मचाई थी. उत्तरी-पश्चिमी ईरान में आए इस भूकंप में जहां 300 से ज्यादा लोगों की मौत हुई, वहीं 5000 से ज्यादा लोग घायल हो थे. इस भूकंप के झटके तबरीज व अहार में भी महसूस किए गए थे.

 

Kisan और खेती से जुड़ी हर खबर देखने के लिए Green TV India को Subscribe करना ना भूले ::

https://www.youtube.com/user/Greentvindia1

Green TV India की Website Visit करें :: http://www.greentvindia.com/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *