आईआईटी कानपुर के पीएचडी छात्र ने की आत्महत्या

आईआईटी, कानपुर, पीएचडी, के विद्यार्थी ने की, आत्महत्या

आईआईटी कानपुर के एक दलित छात्र ने हॉस्टल के कमरे में पंखे से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। दलित छात्र का नाम भीम सिंह बताया जा रहा है। भीम फिरोजाबाद का रहने वाला था। और आईआईटी कानपुर से मेकेनिकल ब्रांच में पीएचडी के तीसरे वर्ष में पहुंच चुका था।

आईआईटी, कानपुर, पीएचडी, के विद्यार्थी ने की, आत्महत्या
आईआईटी कानपुर के छात्र ने हॉस्टल के कमरे में पंखे से फांसी लगाकर की आत्महत्या

जानकारी के मुताबिक,जानकारी के मुताबिक 18 अप्रैल को भीम ने अपने हॉस्टल के कमरे में पंखे से फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। औऱ रात तक भीम के कमरे से बाहर ना आने पर सहपाठियों को चिंता होने लगी। जब वे उसका हाल-चाल पूछने उसके कमरे के पास गए तो उन्हें कमरे से बदबू आने लगी। कमरा अंदर से बंद था। जिसके कारण वे कमरे का गेट खोल पाने में असमर्थ रहे। जिसके बाद ही उन्होने आईआईटी के अधिकारियों को सूचित किया। और फिर तुरंत ही पुलिस को भी सूचना दी गई। पुलिस ने छात्र के कमरे का दरवाजा तोड़ा तो उन्हें भीम सिंह का शव पंखे से लटका हुआ मिला। हालांकि पुलिस ने तुरंत शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

वरिष्ठ पुलिस अध्यक्ष अखिलेश कुमार ने बताया कि भीम सिंह तीन साल से पीएचडी का छात्र था। और यहां आईआईटी परिसर के छात्रावास नंबर आठ में रहता था। भीम के साथ के छात्रों ने बताया कि वह आजकल बहुत तनाव में रहता था। हालांकि छात्र के आत्महत्या के कारणों का पता नहीं चल सका है। साथ ही कमरे मे मिले सुसाइड पर पुलिस ने किसी तरह का बयान नहीं दिया है।

कैम्पस के अन्य स्टूडेंट्स का कहना है कि, शाम को ही भीम उनके साथ चाय पीने बाहर भी गया था और वहां पढ़ाई-लिखाई को लेकर बात कर रहा था। फिर पता नहीं अचानक उसने ऐसा कदम क्यों उठा लिया। आईआईटी के कार्यवाहक निर्देशक मणींद्र अग्रवाल ने इस बारे में बात करने से साफ इंकार कर दिया है। फिलहार पुलिस मामले की पूरी जांच कर रही है।

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password